ऑक्सीजन उत्पादन और भंडारण क्षमता बढ़ाने में जुटा असम

ऑक्सीजन उत्पादन और भंडारण क्षमता बढ़ाने में जुटा असम
assam-trying-to-increase-oxygen-production-and-storage-capacity

गुवाहाटी, 26 अप्रैल (हि.स.)। हमने नॉन रेसिडेंट और नर्सिंग होम को रेमडेसिविर इंजेक्शन की खुराक जारी करने का फैसला किया है। साथ ही असम ऑक्सीजन उत्पादन और भंडारण क्षमता को बढ़ावा देने के लिए भी ठोस प्रयास किए हैं, जिसके चलते असम ऑक्सीजन सरप्लस वाले राज्य की सूची में शामिल हो गया है। राज्य के स्वास्थ्, वित्त, शिक्षा आदि मामलों के मंत्रा डॉ हिमंत विश्वशर्मा ने ट्वीट कर बताया कि यह बताने की 430 बेड का कोविड केयर सेंटर सोमवार से गुवाहाटी के सोरुसजाई में काम करना आरंभ कर दिया है। उन्होंने कहा कि इन सुविधाओं का मौके पर जायजा लेते हुए अधिकारियों के साथ सभी व्यवस्थाओं की समीक्षा की। बेहद कम समय में कोविड केयर सेंटर को तैयार करने के लिए उन्होंने अपनी टीम को बधाई दी। उन्होंने बताया कि असम में प्रतिदिन 20 मीट्रिक टन खपत हो रही है। पिछले 10 दिनों में नए पीएसए संयंत्रों के परिचालन सहित हमारे ठोस प्रयासों के कारण आज हमारी ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता 61 मीट्रिक टन प्रतिदिन तक पहुंच गई है। हमने अपनी ऑक्सीजन भंडारण क्षमता को 468 मीट्रिक टन तक बढ़ाया है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि अगले 10 दिनों में असम ऑक्सीजन की आपूर्ति के बारे में आरामदायक स्थिति में होगा। अगले सप्ताह असम 03 और ऑक्सीजन संयंत्रों को भी चालू किया जाएगा। असम के पास 25,000 रेमडेसिविर का स्टॉक है। सरकारी अस्पतालों में मरीजों के अलावा, प्राइवेट अस्पतालों को भी रेमडेसिविर देने का निर्णय लिया गया है। डॉ विश्वशर्मा ने बताया कि पिछले 10 दिनों में 200 और आईसीयू बेड तैयार हो जाएगा। इसके लिए प्रयास जारी है। उन्होंने कहा असम की इस मदद के लिए हम भारत सरकार के आभारी हैं। साथ ही कहा कि अगले 10 दिनों के अंदर बिस्तर, ऑक्सीजन, दवा और आईसीयू की उपलब्धता को लेकर असम पूरी तरह से आरामदायक स्थिति में होगा। साथ ही उन्होंने सभी से मास्क लगाने का आह्वान किया। हिन्दुस्थान समाचार/अरविंद