असम उपचुनाव : कांग्रेस मैदान में अकेले उतरेगी, भाजपा गठबंधन में

 असम उपचुनाव : कांग्रेस मैदान में अकेले उतरेगी, भाजपा गठबंधन में
assam-by-elections-congress-will-go-alone-in-the-fray-bjp-in-alliance

गुवाहाटी, 30 सितंबर (आईएएनएस)। असम की पांच विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव के साथ मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के अकेले सत्ताधारी भाजपा से मुकाबला करने की संभावना है, जो चार सीटों पर चुनाव लड़ेगी और एक सीट अपने सहयोगी युनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) के लिए छोड़ देगी। मंगलवार को चुनाव आयोग की घोषणा के अनुसार, गोसाईगांव, तमुलपुर, भबनीपुर, मरियानी और थौरा में उपचुनाव 30 अक्टूबर को होंगे। कांग्रेस की मुख्य प्रवक्ता बोबीता शर्मा ने बुधवार को कहा कि फिलहाल उनकी पार्टी उपचुनाव अकेले लड़ेगी। शर्मा ने आईएएनएस से कहा, हालांकि, पार्टी के वरिष्ठ नेता उपचुनाव के सभी पहलुओं पर चर्चा करेंगे। कांग्रेस, जिसने 15 वर्षो (2001-2016) तक असम पर शासन किया था, मार्च-अप्रैल में हुए विधानसभा चुनावों में 29 सीटों पर सिमट गई। 2016 के चुनावों में वह राज्य में भाजपा से हार गई थी। कांग्रेस के अन्य सहयोगियों में से 10-पार्टी महाजोत (महागठबंधन) के नेतृत्व में, ऑल इंडिया युनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट ने 16 सीटें जीतीं, बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (बीपीएफ) को चार सीटें मिलीं, और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने सिर्फ एक सीट जीती। असम कांग्रेस ने इस महीने की शुरुआत में घोषणा की थी कि बदरुद्दीन अजमल के नेतृत्व वाली एआईयूडीएफ और आदिवासी-आधारित पार्टी बीपीएफ अब राज्य में महाजोत की भागीदार नहीं होगी। मार्च-अप्रैल विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने भवानीपुर सीट एआईयूडीएफ के लिए छोड़ दी थी, जबकि गोसाईगांव सीट पर बीपीएफ ने चुनाव लड़ा था। हाल ही में, मरियानी से चार बार के कांग्रेस विधायक रूपज्योति कुर्मी और थौरा से दो बार के पार्टी विधायक सुशांत बोरगोहेन ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था और भाजपा में शामिल हो गए थे। भवानीपुर से मुस्लिम-आधारित एआईयूडीएफ के एकमात्र हिंदू विधायक फणीधर तालुकदार ने हाल ही में भाजपा में शामिल होने से पहले विधानसभा से इस्तीफा दे दिया। यूपीपीएल के तमुलपुर विधायक लेहो राम बोरो और बीपीएफ के गोसाईगांव विधायक मजेंद्र नारजारी की कोविड-19 से मौत हो गई। राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने जाने के बाद, केंद्रीय मंत्री और असम के पूर्व मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने मंगलवार को माजुली विधानसभा सीट से इस्तीफा दे दिया। हालांकि 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव की सूची में माजुली का नाम नहीं है। भाजपा सूत्रों ने कहा कि पार्टी चार सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी और तामूलपुर निर्वाचन क्षेत्र को यूपीपीएल के लिए छोड़ देगी। भाजपा की राज्य इकाई के प्रमुख भाबेश कलिता ने दावा किया है कि उपचुनाव में पार्टी सभी पांचों सीटों पर जीत हासिल करेगी। 126 सदस्यीय असम विधानसभा में, भाजपा ने 60 सीटें जीतीं, जो कि पांच साल पहले जीती संख्या के समान है। भाजपा के सहयोगी असम गण परिषद ने पिछली बार 14 के मुकाबले नौ सीटें जीती थीं, जबकि नए गठबंधन सहयोगी यूपीपीएल को छह सीटें मिली थीं। --आईएएनएस एसजीके

अन्य खबरें

No stories found.