लद्दाखी युवाओं का ​भविष्य सुरक्षित बनाएगी सेना, उपलब्ध होंगे रोजगार

लद्दाखी युवाओं का ​भविष्य सुरक्षित बनाएगी सेना, उपलब्ध होंगे रोजगार
army-will-secure-the-future-of-ladakhi-youth-employment-will-be-available

- एचपीसीएल और एनआईईडीओ से कोर ऑफ इंडियन आर्मी का करार - सेना के प्रयासों ने रोजगार से वंचित लद्दाखी समाज में जगाई नई उम्मीद नई दिल्ली, 26 अप्रैल (हि.स.)। लद्दाखी युवाओं के बेहतर भविष्य को सुरक्षित करने के लिए भारतीय सेना ने अपनी सतत पहल को और आगे बढ़ाया है। इसके लिए लेह स्थित कोर ऑफ इंडियन आर्मी ने सोमवार को कॉर्पोरेट पार्टनर हिन्दुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) और नेशनल इंटीग्रिटी एंड एजुकेशनल डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (एनआईईडीओ) के साथ करार किया है। सेना का यह प्रयास लद्दाखी समाज को बदलने का प्रभावी तरीका है जो रोजगार से वंचित लोगों में आशा की नई किरण का संचार करेगा। प्रवक्ता ने बताया कि 'परियोजना लद्दाख प्रज्वलित मन' के तहत लद्दाख के युवाओं का भविष्य बेहतर और सुरक्षित करने के लिए सेंटर ऑफ एक्सीलेंस एंड वेलनेस की परिकल्पना की गई है। यह एक पूर्णकालिक आवासीय कार्यक्रम है जिसमें पूरे भारत में फैले विभिन्न मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों की प्रवेश परीक्षाओं के लिए 12 महीनों की अवधि के लिए उनका मार्गदर्शन किया जाना है। भारतीय सेना की निगरानी में इस कार्यक्रम को कानपुर की संस्था राष्ट्रीय अखंडता और शैक्षिक विकास संगठन द्वारा निष्पादित किया जाएगा। सेना इस पूरे कार्यक्रम की देखरेख करेगी, जिसमें एचपीसीएल आर्थिक रूप से सहयोग कर रहा है। कानपुर की संस्था की ओर से चलाया जाने वाला यह कार्यक्रम न केवल लद्दाखी बच्चों को मार्गदर्शन देगा बल्कि मूल्य आधारित शिक्षा से उनके विकास की कहानी भी लिखेगा। कैरियर शुरू करने के लिए उन्हें सॉफ्ट स्किल ट्रेनिंग, महत्वपूर्ण जीवन क्षमता, नेतृत्व क्षमता, व्यक्तिगत कंडीशनिंग, कल्याण कार्यक्रम, व्यावसायिक प्रशिक्षण, व्यक्तित्व विकास का प्रशिक्षण तब तक दिया जायेगा, जब तक वे राष्ट्र के लिए उत्पादक मानव संसाधन बन जाएं। इस अवसर पर 14वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन ने कहा कि भारतीय सेना उन प्रयासों पर जोर दे रही है जिससे न केवल कौशल विकास प्रशिक्षण मिलेगा बल्कि लद्दाख के विशेषाधिकार प्राप्त वर्गों के लिए रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। प्रवक्ता ने कहा कि इस तरह के प्रयास स्थानीय लोगों के साथ भारतीय सेना की निरंतर बातचीत का परिणाम है। स्थानीय लोगों ने सेना के निरंतर प्रयास की सराहना की, जिसके परिणामस्वरूप न केवल प्रतिभावान प्रतिभाशाली छात्रों को सुविधा मिलेगी, बल्कि उन्हें रोजगार के बेहतर अवसर मिलेंगे। सेना का यह प्रयास लद्दाखी समाज को बदलने का प्रभावी तरीका है जो वंचितों के लिए आशा की एक नई किरण का संंचार करेगा। इस मौके पर एचपीसीएल के रिटेल (जेएंडके) के मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक प्रिंस सिंह, एनआईईडीओ के मैनेजिंग ट्रस्टी और सीईओ डॉ. रोहित श्रीवास्तव, सेना के विभिन्न वरिष्ठ अधिकारी और नागरिक गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे। समारोह में लेह के सांसद जमैया त्सेरिंग नामग्याल, केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख के उप राज्यपाल के सलाहकार, सचिव, लेह के मुख्य कार्यकारी पार्षद ताशी गाइलसन और लद्दाख के शिक्षा सचिव ने भी भाग लिया। हिन्दुस्थान समाचार/सुनीत