5 साल से छोटे बच्चों में ओमिक्रॉन-रोधी बूस्टर खुराक 80 फीसदी से ज्यादा असरदार : फाइजर

 5 साल से छोटे बच्चों में ओमिक्रॉन-रोधी बूस्टर खुराक 80 फीसदी से ज्यादा असरदार : फाइजर
anti-omicron-booster-dose-more-than-80-percent-effective-in-children-younger-than-5-years-pfizer

न्यूयॉर्क, 23 मई (आईएएनएस)। फाइजर ने सोमवार को घोषणा की कि उसकी तीसरी बूस्टर खुराक 6 महीने से से लेकर 5 साल से कम उम्र के बच्चों में ओमिक्रॉन की लहर के दौरान बीमारी को रोकने में 80.3 फीसदी असरदार है। कंपनी ने एक बयान में कहा, फेज 2/3 के ट्रायल के परिणामों से पता चला है कि 5 साल से कम उम्र के बच्चों में फाइजर-बायोएनटेक कोविड-19 वैक्सीन की तीसरी 3-ओमिक्रॉन खुराक ने एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया दी है। फेज 2/3 के ट्रायल में 1,678 बच्चों को दूसरी खुराक दिए जाने के कम से कम दो महीने बाद 3-माइक्रोग्राम फॉर्मूलेशन की तीसरी खुराक दी गई। कंपनी ने कहा कि एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया प्राप्त करने के अलावा बच्चों ने टीके को अच्छी तरह से सहन किया और इसके अधिकांश दुष्प्रभाव हल्के से मध्यम स्तर के थे। फाइजर के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी, अल्बर्ट बौर्ला ने कहा, हमारे कोविड-19 वैक्सीन के प्रभाव का हजारों बच्चों और किशोरों में अध्ययन किया गया है और हमें खुशी है कि सबसे कम उम्र के बच्चों के लिए हमारा फॉर्मूलेशन, जिसे हमने वयस्कों के लिए खुराक की ताकत का दसवां हिस्सा सावधानी से चुना था, अच्छी तरह से सहन किया गया और इसकी मजबूत प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया मिली। उन्होंने कहा कि भले ही सुरक्षा, इम्युनोजेनेसिटी और प्रभावकारिता डेटा उत्साहजनक हैं, कंपनी जल्द ही इसे वैश्विक स्तर पर नियामकों को सौंप देगी, ताकि छोटे बच्चों को जितनी जल्दी हो सके, टीका उपलब्ध कराया जा सके। फाइजर ने पहले कहा था कि बच्चों को लगाई गईं पहली दो खुराकों के असर संबंधी डेटा से पता चलता है कि वे केवल 30 से 40 प्रतिशत प्रभावी थे। 5 वर्ष से कम आयु के बच्चे अमेरिका में एकमात्र ऐसा समूह है, जो अभी तक टीकाकरण के योग्य नहीं है। यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के आंकड़ों के अनुसार, ओमिक्रॉन लहर के दौरान 5 साल से कम उम्र के बच्चों को महामारी के चरम की दर से पांच गुना अधिक कोविड संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सीडीसी के आंकड़ों के अनुसार, इस साल फरवरी तक 11 वर्ष से कम उम्र के लगभग 75 प्रतिशत बच्चे कोविड से संक्रमित पाए गए थे। सीएनबीसी ने बताया कि इस बीच, मॉडर्ना ने यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन से 6 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए दो खुराक वाले टीके को अधिकृत करने के लिए भी कहा है। रिपोर्ट के मुताबिक, इसका टीका 2 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में ओमिक्रॉन से होने वाले संक्रमण के खिलाफ लगभग 51 प्रतिशत प्रभावी था और 2 वर्ष से 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए लगभग 37 प्रतिशत प्रभावी था। हालांकि, मॉडर्ना ने कहा कि टीके से प्रेरित एंटीबॉडी का स्तर गंभीर बीमारी के खिलाफ उच्च स्तर की सुरक्षा में तब्दील होना चाहिए। फाइजर और मॉडर्ना के अनुप्रयोगों पर विचार करने के लिए एफडीए की स्वतंत्र टीका विशेषज्ञों की समिति जून में बैठक करने की योजना बना रही है। --आईएएनएस एसजीके/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.