चक्रवात ‘यास’ से प्रभावित राज्यों के लिए 1000 करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा

चक्रवात ‘यास’ से प्रभावित राज्यों के लिए 1000 करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा
announcement-of-relief-package-of-1000-crores-for-the-states-affected-by-cyclone-39yas39

ओम प्रकाश कोलकाता, 28 मई (हि.स.)। चक्रवात 'यास' से प्रभावित ओडिशा और पश्चिम बंगाल का दौरा करने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ओडिशा, झारखंड और बंगाल के लिए एक हजार करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की। शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ओडिशा के बाद पश्चिम बंगाल में उत्तर और दक्षिण 24 परगना तथा पूर्व मेदिनीपुर में चक्रवात प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। उसके बाद उन्होंने तीनों राज्यों के लिए एक हजार करोड़ रुपये की फौरी राहत पैकेज की घोषणा की है। इसमें से 500 करोड़ रुपये अकेले ओडिशा को दिए जाएंगे, जबकि बाकी 500 करोड़ झारखंड और बंगाल को मिलेंगे। बंगाल के चार जिलों में हवाई सर्वेक्षण करने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कलाइकुंडा एयरबेस पर उतरे। यहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनसे मुलाकात की और राज्य में 20 हजार करोड़ रुपये के नुकसान की रिपोर्ट सौंपी है। प्रधानमंत्री के साथ बैठक में मुख्यमंत्री को भी शामिल होना था। लेकिन तय समय से आधे घंटे लेट से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्य के मुख्य सचिव अलापन बनर्जी वहां पहुंचे थे। ममता ने प्रधानमंत्री के साथ समीक्षा बैठक में हिस्सा नहीं लिया। उन्होंने एयरबेस पर एक कमरे में प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की और राज्य में हुए नुकसान संबंधी रिपोर्ट उन्हें सौंपी। इसके बाद ममता बनर्जी दीघा के लिए रवाना हो गईं। सूत्रों ने बताया कि समीक्षा बैठक में ममता को हराने वाले विधायक शुभेंदु अधिकारी को शामिल किया गया था। इसी से नाराज मुख्यमंत्री बैठक में शामिल नहीं हुईं। इस बैठक में राज्यपाल जगदीप धनखड़, केंद्रीय मंत्री देवश्री चौधरी और राज्य के सिंचाई मंत्री सोमेन महापात्र भी मौजूद थे। ममता की गैर मौजूदगी में प्रधानमंत्री ने जिलाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इसके बाद बांग्ला और ओडिया भाषा में ट्वीट कर चक्रवात पीड़ित लोगों की हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया। हिन्दुस्थान समाचार

अन्य खबरें

No stories found.