आंध्र प्रदेश में हादसाः सैनिटाइजर पीने से 10 लोगों की मौत, शराब की दुकानें बंद चल रही हैं
आंध्र प्रदेश में हादसाः सैनिटाइजर पीने से 10 लोगों की मौत, शराब की दुकानें बंद चल रही हैं
देश

आंध्र प्रदेश में हादसाः सैनिटाइजर पीने से 10 लोगों की मौत, शराब की दुकानें बंद चल रही हैं

news

अमरावतीः आंध्र प्रदेश के प्रकासम जिले के एक गांव में शराब के विकल्प के रूप में कथित तौर पर सेनिटाइजर पीने में तीन भिखारियों सहित कम से कम दस लोगों की मौत हो गई। प्रकासम जिले के पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ कौशल ने ‘पीटीआई-भाषा’ को फोन पर बताया कि कुरीचेंदू गांव के ये लोग बीते कुछ दिन से सेनिटाइजर को पानी और शीतल पेय में मिलाकर पी रहे थे। कौशल ने गांव का दौरा किया। वहां लॉकडाउन बढ़ने के कारण शराब की दुकानें बंद हैं। उन्होंने बताया कि दो लोगों की बृहस्पतिवार रात को मौत हो गई और शेष आठ लोगों की शुक्रवार को मौत हुई । उन्होंने कहा,‘‘ हम इस बात की भी जांच कर रहे हैं कि कहीं सेनिटाइजर में कोई जहरीला पदार्थ को नहीं था। हमने सेनिटाइजर को रसायनिक जांच के लिए भेजा है।’’ पुलिस ने बताया कि ये लोग शराब पीने के आदी थे पुलिस ने बताया कि ये लोग शराब पीने के आदी थे और कुरीचेंदू में कोविड-19के कारण लॉकडाउन बढ़ने से शराब नहीं मिलने के कारण उन्होंने सेनिटाइजर को चुना जिसमें कुछ नशीली सामग्री होती हैं। मरने वालो में तीन भिखारी, रिक्शाचालक तथा अन्य लोग शामिल हैं। पुलिस ने बताया कि बृहस्पतिवार रात को मंदिर के पास दो भिखारियों की मौत हो गई। उनमें से एक घटनास्थल पर मृत पाया गया वहीं दूसरे की दार्सी कस्बे में एक सरकारी अस्पताल में मौत हो गई। तीसरे व्यक्ति को बृहस्पतिवार रात दार्सी अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उन्होंने बताया कि कुछ और लोग सेनिटाइजर पीने के बाद बीमार पड़ गए। उनका इलाज चल रहा है और उनकी हालत खतरे से बाहर है। जंगली सुअर के हमले में घायल किसान की मौत कमासिन थानाक्षेत्र के जामू गांव में जंगली सुअर के हमले में घायल किसान की उपचार के दौरान जिला अस्पताल में मौत हो गयी। किसान को बचाने में घायल हुए एक अन्य किसान का अभी इलाज चल रहा है। पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। कमासिन थाना के प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार सिंह ने बताया कि जामू गांव में बुधवार की शाम खेत की रखवाली करते समय जंगली सुअर के हमले में किसान मनोज (37) घायल हो गया था। उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान बृहस्पतिवार की शाम उसकी मौत हो गयी है। मनोज को बचाने में घायल हुए किसान राजेश राजपूत का अभी इलाज चल रहा है। उन्होंने बताया कि मृत किसान के शव का पोस्टमॉर्टम कराया गया है। उन्होंने कहा कि घटना की सूचना राजस्व अधिकारियों को दे दी गयी है, ताकि किसान के परिवार को सरकारी सहायता मिल सके।-newsindialive.in