सीनियर आईपीएस आलोक मित्तल को बनाया हरियाणा सीआईडी प्रमुख
सीनियर आईपीएस आलोक मित्तल को बनाया हरियाणा सीआईडी प्रमुख
देश

सीनियर आईपीएस आलोक मित्तल को बनाया हरियाणा सीआईडी प्रमुख

news

चंडीगढ़, 30 जुलाई (हि.स.)। एडीजीपी आलोक मित्तल को हरियाणा सरकार ने नया सीआईडी चीफ बनाया है। वे मौजूदा सीआईडी प्रमुख अनिल कुमार राव की जगह लेंगे, जो इसी माह 31 जुलाई को रिटायर हो रहे हैं। प्रदेश सरकार की ओर से गुरुवार को राव की जगह मित्तल को यह जिम्मा सौंपा जाने का आर्डर जारी हो गया। दरअसल, केंद्र में प्रतिनियुक्ति से लौटते ही सरकार ने मित्तल को सीआईडी का ओएसडी नियुक्त किया था। आलोक मित्तल नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) में इंस्पेक्टर जनरल के पद पर कार्यरत थे। 1993 बैच के आईपीएस आलोक मित्तल को 2018 में राज्य सरकार ने एडीजीपी प्रमोट किया था। वे अक्तूबर-2011 से फरवरी 2013 तक रोहतक रेंज के आईजी और जून 2009 से अक्तूबर-2011 तक गुरुग्राम कमिश्नरी में ज्वाइंट कमिश्नर ऑफ पुलिस रह चुके हैं। जून 2008 से जून 2009 तक रोहतक, जून 2007 से जून 2008 तक फरीदाबाद तथा दिसंबर 2005 से जनवरी 2007 तक वे पानीपत के एसएसपी रहे। नवंबर-2001 से नवंबर 2005 तक मित्तल सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिेशन (सीबीआई) की आर्थिक अपराध शाखा और साइबर सैल के एसपी रह चुके हैं। शुरुआती दिनों में दिसंबर, 1996 से अक्तूबर 1999 तक वे पंचकूला के पुलिस अधीक्षक रहे। देश में वर्ष 2007 में शुरू की थी पहली महिला पीसीआर: आलोक मित्तल का जन्म इलाहाबाद में 1969 में हुआ। इन्होंने आईआईटी रुड़की से मैकेनिकल इंजीनियरिंग, उस्मानिया यूनिवर्सिटी से पुलिस मैनेजमेंट में मास्टर डिग्री, नालसर यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ से सायबर लॉ में पीजी डिप्लोमा भी किया है। वे 1993 में यूपीएससी की परीक्षा उतीर्ण करके आईपीएस बने थे और हरियाणा कैडर ज्वाइन किया था। आईपीएस आलोक ने ही देश में सबसे पहले 2007 में फरीदाबाद में बतौर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महिला पीसीआर शुरू की थी। इसके अलावा सायबर सिक्योरिटी विशेषज्ञ रक्षित टंडन के साथ उन्होंने ही गुड़गांव में साइबर सेफ कैंपेन शुरू किया था। उन्हें राष्ट्रपति पुलिस पदक से भी नवाजा गया है। हिन्दुस्थान समाचार/वेदपाल/बच्चन-hindusthansamachar.in