सबरीमाला मंदिर के नए सीजन के लिए सभी तैयारी पूरी

 सबरीमाला मंदिर के नए सीजन के लिए सभी तैयारी पूरी
all-preparations-completed-for-the-new-season-of-sabarimala-temple

तिरुवनंतपुरम, 15 नवंबर (आईएएनएस)। प्रसिद्ध भगवान अयप्पा-समर्पित सबरीमाला मंदिर के नए सत्र के लिए सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। मंदिर मंगलवार की सुबह भक्तों के लिए खुलेगा। मंदिर के अधिकारी और पुजारी सोमवार को बाद में मंदिर पहुंचेंगे और शाम 5.30 बजे भक्तों के लिए मंदिर खोलने से पहले अपनी प्रथागत पूजा शुरू करेंगे। हालांकि, राज्य में भारी बारिश के साथ, अधिकारियों द्वारा प्रतिबंध लगाने के साथ चीजें प्रवाह की स्थिति में हैं। पम्बा नदी में पवित्र डुबकी, जो सभी भक्तों के लिए एक पहाड़ी में स्थित मंदिर में चढ़ाई शुरू करने से पहले अनिवार्य है, उसको अगली सूचना तक प्रतिबंधित कर दिया गया है। भक्तों की दैनिक संख्या को अधिकतम 30,000 तक सीमित करने का निर्णय लिया गया है। मंदिर के अधिकारियों के अनुसार, अब तक 13 लाख से अधिक तीर्थयात्रियों ने अपनी मंदिर यात्रा की प्री-बुकिंग कर ली है। दो माह तक चलने वाला मंदिर सत्र दिसंबर में कुछ दिनों के अवकाश के साथ जनवरी के तीसरे सप्ताह में समाप्त होगा। पिछले कुछ सालों में यह मंदिर चर्चा का विषय रहा है। सबसे पहले मंदिर तब चर्चा में आया जब सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक आदेश में सभी महिलाओं को मंदिर जाने की अनुमति दी थी। मंदिर में 10 से 50 वर्ष की आयु वर्ग की महिलाओं का जाना प्रतिबंधित था। जिसके बाद फिर कोविड -19 महामारी आई, जिसमें 2020 में लॉकडाउन ने सभी चीजें रोक दी थी। आने वाले सभी तीर्थयात्रियों को 72 घंटे से पहले ली गई नकारात्मक आरटी-पीसीआर परीक्षण रिपोर्ट ले जानी थी। दोनों वैक्सीन जैब्स लेने के बाद मंदिर जाने की अनुमति थी। अधिकारियों ने बताया है कि मंदिर में चढ़ावा और प्रसाद के रूप में अप्पोम और अरावण (पायसेम) भी बिक्री के लिए तैयार है। मंदिर के अधिकारियों ने बताया कि अरवना का वर्तमान स्टॉक लगभग दस लाख कंटेनर था, इसके अलावा दो लाख अप्पम के पैकेट भी तैयार हैं, जबकि प्रतिदिन दो लाख कंटेनर और अप्पम के एक लाख पैकेट का उत्पादन दैनिक मांग को पूरा करने के लिए किया जाएगा। मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है, और मंदिर स्थित कसबा अब अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एस. श्रीजीत और उनकी टीम के अधीन होगा। केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीणा जॉर्ज ने कहा कि पांच आपातकालीन स्वास्थ्य केंद्र भी महत्वपूर्ण बिंदुओं पर तैयार हैं। --आईएएनएस एमएसबी/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.