लखीमपुर जाने की जिद में धरने पर बैठे अखिलेश को हिरासत में लिया गया

 लखीमपुर जाने की जिद में धरने पर बैठे अखिलेश को हिरासत में लिया गया
akhilesh-who-was-sitting-on-a-dharna-insisting-on-going-to-lakhimpur-was-taken-into-custody

लखनऊ, 4 अक्टूबर (आईएएनएस)। लखीमपुर में हुए हिंसक घटना के बाद लगातार सियासत जारी है। लखनऊ धरने पर बैठे समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को हिरासत में ले लिया गया है। इस दौरान अखिलेश यादव ने कहा है कि किसानों के ऊपर इतना अन्याय-उत्पीड़न नहीं कभी नहीं हुआ, जितना भाजपा सरकार कर रही है। सरकार अन्न महोत्सव कर रही है लेकिन किसानों को अपमानित कर रही है। उन्होंने कहा कि किसानों की हत्या हुई है, सपा की मांग है कि केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री इस्तीफा दें और पीड़ित परिवारों को 2 करोड़ का मुआवजा दिया जाए। अखिलेश यादव ने पुलिस की गाड़ी में आग लगने पर कहा कि यह आंदोलन को कमजोर करने की साजिश है। पुलिस ने खुद ही गाड़ी में आग लगाई हैं। मुझे जानकारी मिली थाने के सामने गाड़ी में आग लगा दी गई है। खुद को रोके जाने पर अखिलेश ने कहा, जिंदा लोकतंत्र है तो लोगों को सच जानने से क्यों रोका जा रहा है। हम किसानों की मदद को जाना चाहते हैं, उनके परिवार वालों से मिलना चाहते हैं, लेकिन सरकार सच सामने आने से रोकना चाहती है। अखिलेश के साथ राम गोपाल यादव भी हिरासत में लिये गए। सपा मुखिया अखिलेश यादव को ईको गार्डन की ओर पुलिस ले जा रही है। इस दौरान सपा के सैकड़ों समर्थकों और पुलिस के बीच जमकर नोकझोंक और धक्कामुक्की हुई। इस बीच गौतमपल्ली थाने के पास कुछ अराजक तत्वों ने एक पुलिस वाहन को आग के हवाले कर दिया। प्रसापा मुखिया शिवपाल यादव को इंजीनियरिंग कॉलेज , जानकीपुरम के पास प्रशासन ने रोका। शिवपाल यादव को कार्यकतार्ओं के साथ हिरासत में लेकर पुलिस लाइन ले जाया जा रहा है। --आईएएनएस विकेटी/आरजेएस

अन्य खबरें

No stories found.