बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र बढ़ाना एकतरफा फैसला : सुरजेवाला

 बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र बढ़ाना एकतरफा फैसला : सुरजेवाला
a-unilateral-decision-to-increase-the-jurisdiction-of-bsf-surjewala

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। कांग्रेस पार्टी ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का अधिकार क्षेत्र बढ़ाए जाने को केंद्र सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस के प्रमुख प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला गुरुवार को कहा की केंद्र सरकार ने पंजाब में बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने के एकतरफा फैसला किया है। उन्होंने कहा कि ये केवल गुजरात में कथिततौर पर अडाणी द्वारा संचालित मुंद्रा पोर्ट के जरिये हेरोइन की आवाजाही से ध्यान हटाने की कोशिश है। सुरजेवाला ने गृह मंत्री अमित शाह पर आरोप लगाते हुए कहा, क्रोनोलॉजी समझिए इस टिप्पणी से प्रेरित होकर बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र बढ़ाने वाले फैसले को जून में मुंद्रा बंदरगाह के जरिये गुजरे 25,000 किलोग्राम के शिपमेंट और 20,000 करोड़ रुपये के 3 हजार किलो के शिपमेंट से जोड़ा गया है। गौरतलब है कि केंद्र की मोदी सरकार ने बीएसएफ के कानून में संशोधन किया है। जिसके तहत पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम में अंतरराष्ट्रीय सीमा से मौजूदा 15 किलोमीटर की बजाए 50 किलोमीटर के क्षेत्र में तलाशी लेने, जब्ती करने और गिरफ्तार करने का अधिकार दे दिया है। वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान के करीब गुजरात के क्षेत्रों में ये दायरा 80 किलोमीटर से घट कर मात्र 50 किलोमीटर ही रह गया है। सुरजेवाला के साथ ही पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने भी इस मसले पर केंद्र सरकार इस फैसले का विरोध किया है। चन्नी ने इसे वापस लेने की मांग करते हुए कहा, मैं अंतरराष्ट्रीय सीमाओं से लगे 50 किलोमीटर के दायरे में बीएसएफ को अतिरिक्त अधिकार देने के सरकार के एकतरफा फैसले की कड़ी निंदा करता हूं, जो संघीय ढांचे पर सीधा हमला है। मैं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस तर्कहीन फैसले को तुरंत वापस लेने का आग्रह करता हूं। --आईएएनएस पीटीके/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.