290 लाख गो-भैंस वंशीय पशुओं को एमएफडी टीका लगाए जाएंगे, करीब 49 करोड़ की राशि भी केंद्र सरकार से आ गई

290 लाख गो-भैंस वंशीय पशुओं को एमएफडी टीका लगाए जाएंगे, करीब 49 करोड़ की राशि भी केंद्र सरकार से आ गई
290 लाख गो-भैंस वंशीय पशुओं को एमएफडी टीका लगाए जाएंगे, करीब 49 करोड़ की राशि भी केंद्र सरकार से आ गई

मध्यप्रदेश में एक अगस्त से पूरे प्रदेश में गो-भैंस वंशीय पशुओं का टीकाकरण अभियान शुरू हो जाएगा। पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने बताया कि एनएडीसीपी योजना में प्रदेश के 290 लाख गो-भैंस वंशीय पशुओं को टैग लगाए जाने हैं। भारत सरकार इसके लिए अब तक 200 लाख टैग और पशुओं के लिए 262 लाख एमएफडी टीका द्रव्य भी दे चुकी है। टीकाकरण के पहले चरण के लिए केंद्र सरकार ने 48 करोड़ 82 लाख रुपए की राशि भी जारी कर दी है। इसमें से 12 करोड़ 62 लाख 83 हजार शीत श्रृंखला व्यवस्था, 11 करोड 12 लाख 39 हजार टीकाकरण सामग्री और 25 करोड 7 लाख 59 हजार गौ सेवक, मैत्री कार्यकर्ता आदि के मानदेय, ईयर टैग और स्वास्थ्य प्रमाण-पत्र भुगतान पर खर्च किए जाएंगे। केन्द्र शासन द्वारा गो, भैंस, बकरी, भेंड़, सूकर के टीकाकरण के लिए नेशनल एनीमल डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम प्रारंभ किया गया है। पहले चरण में मात्र गो-भैंस वंश का टीकाकरण किया जाएगा। टैगिंग पशुओं की जानकारी आईएनएपीएच सॉफ्टवेयर में दर्ज की जाएगी। कार्यक्रम 6 माह के अंतराल में वर्ष में दो बार संचालित होगा। भारत सरकार की पशु संजीवनी योजना में प्रदेश को पूर्व में 90 लाख टैग मिले थे, जो मात्र 30% प्रजनन योग्य पशुओं के लिए ही हो पाए। इनमें से 70 लाख 49 हजार टैग लगाए जा चुके हैं।-newsindialive.in

अन्य खबरें

No stories found.