2022 में दो तिहाई बहुमत से फिर बनेगी भाजपा सरकार : धीरज ओझा
2022 में दो तिहाई बहुमत से फिर बनेगी भाजपा सरकार : धीरज ओझा
देश

2022 में दो तिहाई बहुमत से फिर बनेगी भाजपा सरकार : धीरज ओझा

news

- रानीगंज विधानसभा में दौड़ाया विकास का पहिया:धीरज ओझा - आमजनता की कसौटी पर खरी उतरी योगी सरकार : धीरज ओझा प्रतापगढ़, 17 सितम्बर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के साढ़े तीन साल पूरे होने पर विधायकों को अगले 18 महीने में अपने क्षेत्र में एक बार फिर परीक्षा देने जनता के सामने जाना है। इनकी उपलब्धियां, नीतियां और उनकी योजनाएं कितनी धरातल पर उतरीं, इसे लेकर हिन्दुस्थान समाचार के जनपद संवाददाता दीपेन्द्र तिवारी ने रानीगंज विधानसभा से भाजपा विधायक धीरज ओझा से बात की। बातचीत के प्रमुख अंश... धीरज ओझा जमीन से जुड़े नेता माने जाते हैं छात्र जीवन से ही राजनीति में सहभागिता करते रहे और विश्व हिन्दू परिषद के सक्रिय कार्यकर्ता रहे हैं एवीवीपी से जुड़े रहे और अधिवक्ता के रूप में कार्य किया। वर्तमान में रानीगंज विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के विधायक हैं। जनता से किये वादे और सरकार की नीतियों व अन्य मुद्दों पर बेबाकी से अपनी बात रखी। सवाल- साढ़े तीन साल में आपने विधानसभा क्षेत्र में क्या विकास कार्य किये हैं, कुछ बड़ी परियोजनाओं के नाम भी बतायें जो जमीन पर हों। जवाब- रानीगंज विधानसभा में विकास के कई बड़े काम हुए हैं, इसकी लंबी फेहरिस्त है। नगर पंचाय बनने की सरकार से मंजूरी मिली है जो विधासभा के विकास के मील का पत्थर साबित होगा। जर्जर सड़कें, बदहाल अस्पताल, बिजली की अव्यवस्था अब रानीगंज की यह पहचान नहीं रही। मूलभूत सुविधाओं के साथ विकास कार्यों से रानीगंज की तस्वीर बदल गई है। पृथ्वीगंज बाजार व सुवंसा को नगर पंचायत का दर्जा मिल गया है। इससे अब सारी शहरी सुविधाएं गांवों में भी दिखेंगी। दिलीपपुर और देल्हुपुर में नए थाने का निर्माण व रोडवेज बस अड्डे का निर्माण शुरू हो गया है। राजकीय महाविद्यालय बनाये जाने का प्रस्ताव किया गया है। बिजली, पानी, सड़क, शिक्षा चिकित्सा सहित तमाम विकास कार्य रानीगंज विधानसभा क्षेत्र में हो रहे हैं। विकास के कई काम हुए हैं और यही वह उनकी पूंजी है। कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में काम के आधार पर हमारी जनता मूल्यांकन करेगी। सवाल- डेढ़ साल बाद चुनाव है, वह स्वयं की या सरकार की उपलब्धियों के साथ जनता के बीच जाना चाहेंगे? जवाब-स्थानीय विकास व सरकार की उपलब्धियां दोनों जनता की कसौटी होंगे और 18 महीने बाद वह विकास और योगी सरकार की जनहित की नीतियों को लेकर वह जनता के बीच जायेंगे। योगी सरकार का 'सबका साथ और सबका विकास' आम जन तक पहुंच रहा है। वह हमेशा जनता के बीच रहे हैं और उन्होंने जनता की लड़ाई लड़ी है। उनका प्रयास रहा है कि आम जन तक कैसे सरकार की योजनाओं का लाभ मिले। साथ ही जनता का आशीर्वाद उनके साथ हमेशा रहा है। योगी सरकार की उपलब्धियों व उनके द्वारा कराए गए विकास के काम ही जनता की कसौटी पर होंगे। सवाल- अपनी सरकार को अन्य दलों की सरकारों से क्या अंतर पाते हैं? जबाब- योगी सरकार व अन्य सरकारों में कई मूलभूत अंतर है। अन्य दलों की सरकारों में कार्यकर्ता थाना, तहसील में हावी थे। आम आदमी की कोई सुनवाई नहीं होती थी। जातीय तुष्टिकरण ही मुख्य था। जबकि भाजपा सरकार में सबके विकास की बात हो रही है। भाजपा कार्यकर्ता की भी शिकायत है तो पूरी ईमानदारी से जांच होती है और सबकी सुनवाई होती है। विधायक क्षेत्र के विकास को लेकर अपनी बात रखते हैं जिसे पार्टी के वरिष्ठ नेता व खुद मुख्यमंत्री सुनते हैं व निराकरण करते हैं। उनके द्वारा प्रस्तावित कभी कोई काम नहीं रुके। इस सरकार में सबको साथ लेकर चलने की विशेषता है। सवाल- हाल की कई घटनाओं से आपको लगता है कि सरकार में विधायकों की सुनवाई नहीं हो रही है, आपका क्या कहना है? जबाब- ऐसा बिल्कुल नहीं है। उन्हें कभी महसूस ही नहीं हुआ कि उनकी नहीं सुनी जा रही है और भाजपा कार्यकर्ताओं की सुनवाई नहीं हो रही है। प्रशासन से सभी विकास के काम हो रहे हैं। इस सरकार में जनता के कामों को लेकर पूरा प्रशासनिक तंत्र सक्रिय है। किसी तरह का कोई विरोध नहीं है। भाजपा कार्यकर्ता तंत्र से मिलकर जनता की समस्याओं को सुलझा रहा है। साथ ही सरकार और जनता के बीच एक कड़ी के रूप में है। आम जन को कैसे योजनाओं का लाभ मिल सके, इसके लिए संगठन और सरकार मिलकर काम कर रहे हैं। सवाल-अयोध्या में श्री राम मंदिर का निर्माण शुरू हो चुका है, इसका विधानसभा चुनाव में कितना असर करेगा? जबाब- मंदिर निर्माण कभी भी भाजपा के लिए चुनावी मुद्दा नहीं रहा है। यह करोड़ों लोंगो की आस्था का मामला है। इसका चुनाव से कोई लेना देना नहीं है। भाजपा का कभी यह चुनावी मामला नहीं रहा है,आस्था के प्रश्न पर भाजपा कभी राजनीति नहीं करती है। बिना किसी चुनावी लाभ हानि के भाजपा ने इस प्रश्न को मजबूती से रखा और भाजपा शासन में मंदिर निर्माण शुरू होने से सभी को खुशी है। यह जरूर है कि लोगों की आस्था से जुड़ा होने के कारण यह आम जन को जरूर प्रभावित करेगा। सवाल- 2022 के विधानसभा चुनाव में एक बार फिर योगी सरकार की उम्मीद हैं? जबाब- उम्मीद ही नहीं निश्चित रूप से एक बार फिर योगी सरकार 2022 में दो तिहाई बहुमत के साथ आयेगी। आमजनता की कसौटी पर यह सरकार खरी उतरी है और 'सबका साथ व सबका विकास' के साथ जनता खड़ी है। अपराध, भ्रष्टाचार पर लगाम लगी है। मूलभूत सुविधाएं लोगों को अब आसानी से उपलब्ध हो रही है। किसानों के कर्जे को माफ करने व बेरोजगारों के लिए साफ सुथरी प्रक्रिया को लेकर इस सरकार की दृष्टि स्पष्ट है। इस सरकार में नौकरियों की परीक्षाओं में पूरी ईमानदारी है। योग्य अभ्यर्थियों को इसका लाभ मिल रहा है। कौशल विकास के तहत लाखों बेरोजगार नौकरी या व्यवसाय से जुड़ चुके हैं। अब प्रदेश का माहौल माफियाओं, गुंडों, भ्रष्ट लोगों का नहीं है। जनता इन सबको समझ रही है। विश्वास भरे लहजे में विधायक धीरज ओझा ने कहा कि 2022 में फिर भारतीय जनता पार्टी की सरकार ही आएगी। हिन्दुस्थान समाचार/दीपेन्द्र/राजेश-hindusthansamachar.in