खिलाड़ियों के कराये जाएंगे चार कोविड-19 टेस्ट, पत्नियां-गर्लफ्रेंड्स जाएंगी या नहीं टीम लेगी फैसला

खिलाड़ियों के कराये जाएंगे चार कोविड-19 टेस्ट, पत्नियां-गर्लफ्रेंड्स जाएंगी या नहीं टीम लेगी फैसला
खिलाड़ियों के कराये जाएंगे चार कोविड-19 टेस्ट, पत्नियां-गर्लफ्रेंड्स जाएंगी या नहीं टीम लेगी फैसला

खिलाड़ियों के कराये जाएंगे चार कोविड-19 टेस्ट, पत्नियां-गर्लफ्रेंड्स जाएंगी या नहीं टीम लेगी फैसला नई दिल्ली| भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की फ्रेंचाइजी टीमें इस टी20 लीग के 13वें सीजन के आयोजन की तैयारियों में जुट गई हैं। आईपीएल का 13वां सीजन 19 सितंबर से युनाइटेड अरब अमीरात (यूएई) में शुरू होना है। आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग 2 अगस्त को होनी है, इस मीटिंग में आईपीएल का शेड्यूल घोषित किया जा सकता है। इस बीच रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि आईपीएल में हिस्सा लेने से पहले खिलाड़ियों को चार बार कोविड-19 टेस्ट कराना होगा, वहीं यूएई पत्नियां और गर्लफ्रेंड्स जाएंगी या नहीं, इसका फैसला फ्रेंचाइजी टीमों पर छोड़ दिया जाएगा। 2 अगस्त को बीसीसीआई आईपीएल का शेड्यूल, सिक्योरिटी, सेफ्टी प्रोटोकॉल को लेकर तमाम मुद्दों पर अपना फैसला सुना सकता है। हाल ही में बीसीसीआई ने इसकी पुष्टि की थी कि इस साल आईपीएल 19 सितंबर से यूएई में खेला जाएगा। यूएई पहुंचने से पहले खिलाड़ियों का कोविड-19 टेस्ट में नेगेटिव आना अनिवार्य होगा। इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक खिलाड़ियों को दो सप्ताह के अंदर चार बार कोविड-19 टेस्ट कराना होगा। इसके अलावा यह भी दावा किया गया कि खिलाड़ियों की पत्नियां या गर्लफ्रेंड्स आईपीएल का हिस्सा होंगी या नहीं, इसका फैसला बीसीसीआई नहीं बल्कि फ्रेंचाइजी टीमें करेंगी। इससे पहले सभी आईपीएल सीजन में खिलाड़ियों की फैमिली को उनके साथ रहने की इजाजत मिली है, लेकिन इस बार परिस्थितियां बिल्कुल अलग हैं। अगर खिलाड़ियों की पत्नियां या गर्लफ्रेंड्स साथ आती हैं, तो उन्हें भी सेफ्टी प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। पत्नियां और गर्लफ्रेंड्स को भी बायो सिक्योर घेरे में ही रहना होगा। एक अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, ‘एक बार वो बायो सिक्योर घेरे में आ गए, तो कोई भी इसे तोड़कर वापस इसमें शामिल नहीं हो पाएगा। बीसीसीआई इस पर फैसला नहीं लेगा कि पत्नियां और गर्लफ्रेंड्स खिलाड़ियों के साथ जाएंगी या नहीं, यह फैसला फ्रेंचाइजी टीमों पर छोड़ा जाएगा। लेकिन हर किसी को बायो सिक्योर प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। टीम का बस ड्राइवर भी बायो सिक्योर घेरे के बाहर नहीं जा सकेगा।’ Thank You, Like our Facebook Page - @24GhanteUpdate 24 Ghante Online | Latest Hindi News-24ghanteonline.com

अन्य खबरें

No stories found.