-modi-government-is-harming-the-democratic-system-of-the-country-rahul-gandhi
-modi-government-is-harming-the-democratic-system-of-the-country-rahul-gandhi
देश

, देश की लोकतांत्रिक प्रणाली को नुकसान पहुंचा रही मोदी सरकार :राहुल गांधी

news

-राहुल बोले, संस्थानों में भरे जा रहे एक ही विचार के लोग -आपातकाल को राहुल ने बताया गलत नई दिल्ली, 02 मार्च (हि.स.)। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश की लोकतांत्रिक प्रणाली को कमजोर करने का आरोप लगाते हुए केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार भारत की हर संस्था की स्वतंत्रता पर हमला कर लोकतांत्रित प्रणाली को नुकसान पहुंचाने का काम काम कर रही है। वहीं राहुल ने आरएसएस पर घुसपैठ करने का आरोप लगाते हुए कहा कि हर संस्थान में एक ही विचार के लोगों को भरा जा रहा है। इस तरह की गतिविधियां लोकतंत्र के लिए खतरा है। यह बातें राहुल ने मंगलवार शाम कॉर्नेल यूनिवर्सिटी के लाइव कार्यक्रम में प्रो. कौशिक बसु के साथ चर्चा में कही। राहुल गांधी ने कहा कि आधुनिक लोकतांत्रिक व्यवस्थाएं इसलिए प्रभावी हैं क्योंकि उनके पास स्वतंत्र संस्थाएं हैं। लेकिन भारत में उस स्वतंत्रता पर हमला किया जा रहा है। हालांकि इस प्रकार की स्थिति से दशकों तक कांग्रेस लोकतंत्र के लिए लड़ती आई है। इसी वजह से हमारी पार्टी के भीतर लोकतंत्र को लेकर चर्चा होती रहती है। जबकि कांग्रेस के अलावा किसी अन्य पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र के लिए कोई जगह नहीं है। उन्होंने कहा कि ‘कांग्रेस में अंदरुनी लोकतंत्र को बढ़ावा देने मेरी बातों का उनकी ही पार्टी के लोग आलोचना करते हैं लेकिन मैं सही बात कहने से डरता नहीं।’ मणिपुर और पुडुचेरी में राजनीतिक हालात का जिक्र करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि साल 2018 में मणिपुर के 12 भाजपा विधायकों को आयोग्य घोषित किया जाना चाहिए था लेकिन राज्यपाल ने ऐसा नहीं किया। अब भारतीय चुनाव आयोग ने स्पष्ट किया है कि उसके निर्देश को टाल दिया गया। क्या यह असंवैधानिक नहीं है। इसी प्रकार पुडुचेरी में उपराज्यपाल किरण बेदी ने राज्य सरकार में कई बिल को पास नहीं होने दिया। क्या यही स्वस्थ लोकतंत्र है, जिसमें कुछ लोग पद का दुरुपयोग करते हैं। वहीं, चर्चा के दौरान आपातकाल को लेकर राहुल ने कहा कि उस वक्त जो हुआ और अब जो हो रहा है, उसके बीच एक बुनियादी अंतर है। हालांकि मैं मानता हूं कि तब जो हुआ वो गलत था। उन्होंने कहा कि किसी भी बिंदु पर कांग्रेस पार्टी ने भारत के संवैधानिक ढांचे पर कब्जा करने की कोशिश नहीं की। हमारा ढांचा हमें इसकी अनुमति नहीं देता। अगर हम ऐसा करना चाहें तो भी नहीं कर सकते। दूसरी ओर सरकारी संस्थानों में नियुक्तियों पर सवाल खड़े करते हुए राहुल ने कहा कि वर्तमान में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मौलिक रूप से कुछ अलग कर रहा है। वे अपने लोगों से संस्थानों को भर रहे हैं। ऐसे में अगर कांग्रेस चुनाव में भाजपा को हरा भी देती है तो भी संस्थागत ढांचे में उनके लोगों से छुटकारा नहीं पा सकेंगे। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या को लेकर प्रो. कौशिक बसु के पूछे एक सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा कि ‘मेरे पिता की हत्या दर्दनाक तो थी ही, लेकिन मेरे पिता कई ताकतों से लड़ रहे थे, इसलिए मैं कह सकता हूं मैंने उन्हें मौत की ओर जाते देखा।’ हिन्दुस्थान समाचार/आकाश