​सांबा में पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर मिली सुरंग
​सांबा में पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर मिली सुरंग
देश

​सांबा में पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर मिली सुरंग

news

- नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए चारों आतंकी इसी सुरंग से आये थे - सुरंग के मुहाने पर मिलीं पाकिस्तानी सीमेंट कंपनी की बोरियां नई दिल्ली, 22 नवम्बर (हि.स.)। बीएसएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस की एक संयुक्त टीम ने पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सुरंग का पता लगाया। बीएसएफ के आईजी ने कहा कि नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए चारों आतंकी इसी सुरंग से भारतीय सीमा में आए थे। पाकिस्तान से शुरू होने वाली यह सुरंग अंतरराष्ट्रीय सीमा से 160 मीटर दूर साम्बा सेक्टर में भारत की ओर खुलती है। सीमा की बाड़ से महज 70 मीटर दूर भारतीय सीमा में मिली इस सुरंग की गहराई 25 मीटर है। सुरंग में रेत से भरी बोरियां मिली हैं जिन पर पाकिस्तान की सीमेंट कंपनी का नाम लिखा है। जम्मू और कश्मीर के सांबा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास रविवार को यह भूमिगत सुरंग बीएसएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक गश्ती दल ने खोजी। बीएसएफ के आईजी एनएस जामवाल ने कहा कि नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए चारों आतंकी इसी सुरंग से भारतीय सीमा में आए थे। इससे पहले भी पाकिस्तान सीमा के आसपास कई सुरंगें मिल चुकी हैं जो पकिस्तान की तरफ से शुरू होकर भारत की सीमा में खुलती थीं। इस साल अगस्त में सांबा के सीमावर्ती गांव बैन ग्लाड की सीमा पर एक सुरंग मिली थी। सीमा से 50 मीटर दूर मिली इस सुरंग में पाकिस्तान निर्मित बोरियां बरामद हुई थीं, जिनमें बालू (रेत) भरी हुई थी। यह सुरंग जीरो लाइन से लगभग 150 गज भारतीय सीमा के अंदर मिली थी। सुरंग के मुहाने को बालू की बोरियों से बंद किया गया था। इस सुरंग में कई बड़े हथियार भी मिले थे। जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर नगरोटा टोल प्लाजा के पास दो दिन पहले मुठभेड़ में चार आतंकवादियों ने भी सांबा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास से ही भारत में घुसपैठ की थी। सीमा पर सेना की सख्ती के चलते इन आतंकियों के भी किसी न किसी सुरंग के जरिये भारत की सीमा में घुसपैठ करने की आशंका जताई गई थी। इसीलिए शुक्रवार से बीएसएफ, आर्मी और जम्मू-कश्मीर पुलिस के साथ सीमा के सांबा सेक्टर में एंटी टनलिंग अभियान चलाया जा रहा था। इसी का नतीजा है कि आज पाकिस्तान से लगी अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने एक सुरंग का पता लगा लिया। बीएसएफ के आईजी एनएस जामवाल ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए आतंकी इसी 30-40 मीटर लंबी सुरंग से भारतीय सीमा में घुसे थे। यह नई सुरंग है। हमारा मानना है कि उन्हें किसी गाइड ने भी मदद की है, जो उन्हें यहां से हाइवे तक लेकर गया होगा। जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बीएसएफ के आईजी एनएस जामवाल और जम्मू रेंज के आईजी मुकेश सिंह ने सुरंग वाली जगह का निरीक्षण किया। डीजीपी ने कहा कि पुलिस ने नगरोटा एनकाउंटर स्थल के पास से मिले कुछ अहम सबूत बीएसएफ के हवाले किए थे, जिसके आधार पर बीएसएफ ने इस सुरंग को खोज निकाला। इस सुरंग के मुहाने को भी बालू की बोरियों से बंद किया गया था। सुरंग में रेत से भरी बोरियां मिली हैं जिन पर पाकिस्तान की सीमेंट कंपनी का नाम लिखा है। हिन्दुस्थान समाचार/सुनीत-hindusthansamachar.in