सोमवार को बंगाल आ रहे हैं नड्डा, विधानसभा चुनाव से पहले महत्वपूर्ण है दौरा
सोमवार को बंगाल आ रहे हैं नड्डा, विधानसभा चुनाव से पहले महत्वपूर्ण है दौरा
देश

सोमवार को बंगाल आ रहे हैं नड्डा, विधानसभा चुनाव से पहले महत्वपूर्ण है दौरा

news

कोलकाता, 18 अक्टूबर (हि.स.)। पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा को लेकर भी राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। 19 अक्टूबर (सोमवार) को भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा उत्तर बंगाल के सबसे बड़े शहर सिलीगुड़ी का दौरा करने वाले हैं। वहां उनके कई कार्यक्रम हैं, जहां से वह सीधे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमलावर रहेंगे। दुर्गा पूजा के जरिये भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का यह बंगाल दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। वह भी उत्तर बंगाल के दौरे पर आ रहे हैं जो भारतीय जनता पार्टी का नया गढ़ बना हुआ है। दरअसल लोकसभा चुनाव में उत्तर बंगाल की सभी सीटों पर भारतीय जनता पार्टी ने शानदार बहुमत से जीत दर्ज की है। अब दिसम्बर महीने में पूरे राज्य में नगर पालिका चुनाव होने हैं और उसके बाद अगले साल मई के अंत तक विधानसभा का चुनाव भी होगा। इस बार भारतीय जनता पार्टी राज्य की सत्ता हासिल करने के लक्ष्य के साथ आगे बढ़ रही है और ममता बनर्जी को भी इस बात का भली-भांति अंदाजा है कि उत्तर बंगाल से भारतीय जनता पार्टी को बड़े पैमाने पर मत मिलेंगे। इसलिए सीएम तीन बार उत्तर बंगाल का दौरा कर चुकी हैं और वहां विकास कार्यों को तेज करने का निर्देश दे चुकी हैं। सीएम ने स्थानीय निवासियों से खुलकर अपील की है कि भारतीय जनता पार्टी के नेता बाहरी हैं और वह केवल वोट लेने के लिए आ रहे हैं। कुल मिलाकर कहें तो लोकसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद ममता बनर्जी जी तोड़ कोशिश कर रही हैं कि उत्तर बंगाल में एक बार फिर उनकी पार्टी मजबूत बनकर खड़ी हो। ऐसे में नड्डा का उत्तर बंगाल दौरा काफी महत्वपूर्ण हो जाता है। पता चला है कि जेपी नड्डा सोमवार को अपने दौरे के समय न केवल वहां बैठक करेंगे बल्कि सिलीगुड़ी क्षेत्र के मुख्य जनजाति गोरखा समुदाय के प्रतिनिधियों से भी मिलेंगे। यह समुदाय ममता बनर्जी के खिलाफ है और पृथक गोरखालैंड की मांग पर यहां सदियों से आंदोलन होता रहा है। इसके अलावा नामशूद्र और अन्य जनजातियों के प्रतिनिधियों के साथ भी नड्डा की बैठक प्रस्तावित है। इसलिए यह तय है कि भाजपा अध्यक्ष का सिलीगुड़ी दौरा पार्टी के लिए न केवल सांगठनिक मजबूती को लेकर महत्वपूर्ण है बल्कि आसन्न विधानसभा चुनाव की राहें और अधिक आसान करने के लिए भी मील का पत्थर साबित होगा। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 अक्टूबर को कोलकाता में एक पूजा पंडाल को संबोधित करेंगे। इस दौरान वह दुर्गा पूजा के पंडाल का वर्चुअल उद्घाटन भी करेंगे। इसे देखते हुए प्रधानमंत्री की वर्चुअल रैली से पहले नड्डा का यह दौरा निश्चित तौर पर महत्वपूर्ण है। हालांकि जब नड्डा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोलेंगे तब तृणमूल की ओर से भी पलटवार किया जाएगा और उसके बाद प्रधानमंत्री का पूजा पंडाल का वर्चुअल कार्यक्रम निश्चित तौर पर बंगाल में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ाएगा। पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले दुर्गा पूजा का त्योहार चुनावी अखाड़ा बनता नजर आ रहा है। ममता बनर्जी पहले ही सभी जिलों में सैकड़ों दुर्गा पूजा पंडालों का ऑनलाइन उद्घाटन कर चुकी हैं। वह आगे भी पंडालों का ऑनलाइन और ऑफलाइन उद्घाटन करने वाली हैं। इस बीच भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजवर्गीय ने आरोप लगाया है कि ममता बनर्जी बांग्लादेश से शूटर बुलवा रही हैं। उनसे भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या करवा रही हैं। विजयवर्गीय ने कहा कि उनके पास सबूत हैं कि ममता बनर्जी ने पार्टी कार्यकर्ताओं की हत्या के लिए बांग्लादेश से शूटर मंगवाए हैं। भाजपा का दावा है कि उसके 130 से अधिक कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है। इस बीच नड्डा के बंगाल दौरे पर सभी की नजर बनी हुई है। हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश-hindusthansamachar.in