सूरत: रत्नाकरकार विकास संघ के अध्यक्ष जयसुख गजेरा का तापी नदी में मिला शव
सूरत: रत्नाकरकार विकास संघ के अध्यक्ष जयसुख गजेरा का तापी नदी में मिला शव
देश

सूरत: रत्नाकरकार विकास संघ के अध्यक्ष जयसुख गजेरा का तापी नदी में मिला शव

news

सूरत/अहमदाबाद,10 सितम्बर (हि.स.)। रत्नाकरकार विकास संघ के अध्यक्ष जयसुख गजेरा ने तापी नदी में कूद कर आत्महत्या कर ली। पुलिस और दमकल विभाग की एक टीम ने मौके पर पहुंचकर गजेरा का शव बरामद कर लिया। गजेरा की आत्महत्या के आर्थिक तंगी बतायी जा रही है। हालांकि आत्महत्या के कारण की पुष्टि नहीं हो सकी है। राज्य में रत्नाकरकार विकास संघ के अध्यक्ष के रूप में जयसुख गजेरा रत्नाकरकरों की समस्याओं को हल करने के लिए लंबे समय से काम कर रहे थे। घर से लापता होने के बाद उनकी खोजबीन शुरू हुई तो कामराज पुल पर उनकी बाइक और जूते मिले। इसके बाद दमकलकर्मियों ने नदी में खोजबीन शुरू की तो नदी से गजेरा का शव बरामद हो गया। बताया गया कि जयसुख ने कल रात अपने संघ के वाणिज्य मंडलों के अध्यक्ष से बात की थी और उनसे इस्तीफा देने को कहा था। गजेरा के करीबी लोगों का कहना है कि वह लंबे समय से आर्थिक तंगी का सामना कर रहे थे। हिन्दुस्थान समाचार/हर्ष/पारस-hindusthansamachar.in