सूरत के व्‍यापारी ने गरीबों के मुफ्त इलाज के लिए तैयार करवाया कोविड-19 अस्‍पताल
सूरत के व्‍यापारी ने गरीबों के मुफ्त इलाज के लिए तैयार करवाया कोविड-19 अस्‍पताल
देश

सूरत के व्‍यापारी ने गरीबों के मुफ्त इलाज के लिए तैयार करवाया कोविड-19 अस्‍पताल

news

गुजरात के सूरत में एक व्यवसायी कादर शेख ने कोरोना संक्रमण से स्वस्थ होने के बाद अपने कार्यालय को कोविड-19 अस्पताल में परिवर्तित कर दिया है। श्रेयम कॉम्प्लेक्स में स्थित इस कार्यालय में बने अस्पताल में 85 बेड की सुविधा दी गयी है । इसे कोरोना संक्रमित गरीब लोगों के मुफ्त इलाज के लिए तैयार किया गया है। गौरतलब है कि गुजरात में कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए सख्ती बढ़ायी जा रही है। राज्य में 1 अगस्त से मास्क नहीं पहनने व खुले में थूकने पर 200 रुपये के बदले अब 500 रुपये जुर्माना वसूला जाएगा। हाईकोर्ट ने भी कोरोना संक्रमण के दौरान लापरवाही बरतने वालों पर नाराजगी जतायी है, कोर्ट का कहना है कि ऐसे लोगों पर हजार रुपये तक का जुर्माना लगना चाहिये। उधर विधानसभा अध्यक्ष ने मास्क न पहनने वाले 4 कर्मचारियों पर मंगलवार को ही 500-500 रुपये का जुर्माना वसूला था। पिछले एक सप्ताह से गुजरात में प्रतिदिन हजार से अधिक कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या 60 हजार को पार कर चुकी है, जबकि कोरोना के चलते मरने वालों का आंकड़ा 2400 को पार कर गया है। अहमदाबाद व सूरत में हर रोज सैकड़ों नए केस दर्ज हो रहे हैं। हालांकि, अब गुजरात में कोरोना से रिकवर रेट 70 से 75 के बीच है और अब तक 41500 से अधिक मरीज स्वस्थ हो घर भी जा चुके हैं। लेकिन प्रतिदिनृ सामने आ रहे हजार मामलों को लेकर गुजरात हाईकोर्ट व राज्य सरकार दोनों चिंतित है। हाईकोर्ट ने अनलॉक-2 का उल्लंघन करने वालों से भी सख्ती से निपटते हुए हजार रुपये जुर्माना लगाने की बात कही है। वहीं मास्क न लगाने व सड़कों पर थूकने पर 500 रुपये जुर्माना वसूलने की बात कही गयी है। आगामी एक अगस्त से यह नियम लागू कर दिया जाएगा। सरकार ने यह भी कहा कि लोगों को सस्ते में थ्री लेयर मास्क उपलब्ध कराये जाएंगे। अब अमूल पार्लर पर 2 रुपये में यह मास्क उपलब्ध होंगे।-newsindialive.in