सुशांत को याद कर 13 वर्षीय किशोरी ने लगाई फांसी
सुशांत को याद कर 13 वर्षीय किशोरी ने लगाई फांसी
देश

सुशांत को याद कर 13 वर्षीय किशोरी ने लगाई फांसी

news

दुर्ग 23 जुलाई (हि.स.)। फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या से दुखी भिलाई की सातवीं कक्षा की छात्रा ने बीती रात्रि घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। फांसी लगाने से पहले किशोरी ने एक नोट लिखा, जिसमें उसने कहा- सुशांत का जाना मुझे अच्छा नहीं लगा है फांसी लगा रही हूं। किशोरी अपनी जीवन लीला समाप्त करने के पूर्व अभिनेता सुशांत सिंह की फिल्म देख रही थी। घर पर उसके माता-पिता और भाई बहन अपने नानी के घर दुर्ग गए हुए थे । जब लौटे तो बच्ची फंदे पर लटकते मिली । भिलाई नगर थाना प्रभारी त्रिनाथ त्रिपाठी ने बताया कि सेक्टर-7, सड़क-7 निवासी इंग्लिश मीडियम स्कूल सेक्टर 7 की 7 वीं कक्षा की छात्रा अंजलि सतीश (13 वर्ष) ने घर पर स्वयं के दुपट्टे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना के संबंध में पुलिस ने बताया कि बुधवार की दोपहर को मृतका के माता पिता और भाई बहन सभी नाना- नानी के घर दोपहर को दुर्ग गए हुए थे। लड़की के पिता शाम को 5:00 बजे घर लौट आए थे और मां सहित भाई बहन को लाने के लिए मृतका को भी साथ में दुर्ग चलने कहा। लेकिन नाबालिग ने अपने पिता को जाने से इंकार कर दिया और कहा कि मैं पिक्चर देख रही हूं। इसके बाद अपने पिता को चाय भी बनाकर पिलाई और शाम को करीब 6:00 बजे नाबालिग के पिता अपनी पत्नी और बच्चों को लाने के लिए दुर्ग रवाना हो गए। वहां से करीब 7:15 बजे घर लौटे तो दरवाजा बंद था। आवाज लगाई अंदर से कोई जवाब नहीं आने पर बगल के कमरे से घुसकर अंदर प्रवेश किया तब देखा कि उनकी बच्ची पंखे से लटक कर फांसी पर झूल रही है, तुरंत उतार कर उसे सेक्टर 9 हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां परीक्षण के पश्चात डॉक्टर ने रात 9:10 में बच्ची को मृत घोषित कर दिया। अस्पताल 11:00 बजे मिली सूचना पर पुलिस ने मामला दर्ज किया। विवेचना अधिकारी उप निरीक्षक भोजनाम साहू ने बताया कि घटनास्थल से थोड़ी दूर बेडरूम के पास एक सुसाइडल नोट प्राप्त हुआ है, जिसमें नाबालिग ने आत्महत्या का कारण बताया है। उसके द्वारा अंतिम समय में देखी जा रही फिल्म और सुसाइडल नोट में सुशांत का नाम लिखकर आत्महत्या की बात लिखना बताता है कि उसके मन पर सुशांत की आत्महत्या का गहरा असर था। हांलाकि सुसाइडल नोट बहुत स्पष्ट नहीं है। हिन्दुस्थान समाचार /अभय / जितेन-hindusthansamachar.in