सिविल सेवा परीक्षा से योग्यता परीक्षा ‘सीसैट’ को हटाने की कोई योजना नहीं : सरकार
सिविल सेवा परीक्षा से योग्यता परीक्षा ‘सीसैट’ को हटाने की कोई योजना नहीं : सरकार
देश

सिविल सेवा परीक्षा से योग्यता परीक्षा ‘सीसैट’ को हटाने की कोई योजना नहीं : सरकार

news

- कोविड-19 के कारण संयुक्त स्नातक स्तर परीक्षा-2018 के टियर- III के परिणामों में हुई देरी नई दिल्ली, 17 सितम्बर (हि.स.)। केंद्र सरकार ने गुरुवार को कहा कि सिविल सेवा परीक्षा (सीएसई) से सिविल सर्विसेज एप्टीट्यूड टेस्ट (सीसैट) को हटाने की कोई योजना नहीं है। वहीं सरकार ने स्वीकार किया कि कोविड-19 महामारी के कारण संयुक्त स्नातक स्तर परीक्षा-2018 के टियर- III के परिणामों की घोषणा करने में देरी हुई है। कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने गुरुवार को कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने गुरुवार को राज्यसभा में तृणमूल कांग्रेस के डॉ. शांतनु सेन के सिविल सेवा परीक्षा से सीसैट हटाने संबंधी एक लिखित प्रश्न के उत्तर में कहा कि जी, नहीं। सिविल सेवा परीक्षा के पैटर्न में बदलाव कर साक्षात्कारों के स्थान पर मनोवैज्ञानिक परीक्षण संबंधी प्रश्न का उत्तर भी उन्होंने नहीं में दिया। तृणमूल कांग्रेस के डॉ शांतनु सेन ने सवाल किया था कि क्या सरकार संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा (सीएसई) की परीक्षा प्रणाली में परिवर्तन करने जा रही है, जिसमें साक्षात्कारों के स्थान पर मनोवैज्ञानिक परीक्षण किया जाना शामिल है। प्रवेश परीक्षाओं के संचालन में देरी संबंधी भाकपा सांसद बिनॉय विश्वम के एक अन्य प्रश्न के उत्तर में जितेंद्र सिंह ने उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश व फेलोशिप के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करने वाली संस्था राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के हवाले से बताया कि ऐसी कोई प्रवेश परीक्षा नहीं है जो अपने पंजीकरण के एक साल बाद भी आयोजित नहीं की गई है। संयुक्त स्नातक स्तर परीक्षा के परिणामों और भर्ती अधिसूचना की घोषणा करने में विलंब होने संबंधी प्रश्न के उत्तर में सिंह ने बताया कि कोविड-19 महामारी के कारण वर्ष 2020 के लिए परीक्षाओं की अधिसूचना जारी करने का कार्यक्रम अप्रैल- 2020 के महीने से बरकरार नहीं रखा जा सका। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी की स्थिति के कारण संयुक्त स्नातक स्तर परीक्षा-2018 के टियर- III के परिणामों की घोषणा करने में देरी हुई है। हालांकि, परिणाम को घोषित करने की प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा सिविल सेवा परीक्षा हर साल तीन चरणों में आयोजित की जाती है। इसमें प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार शामिल है। यह परीक्षा भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के लिए होती है। सीसैट सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा का हिस्सा है। हिन्दुस्थान समाचार/सुशील-hindusthansamachar.in