सिक्किम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भरत बस्नेत ने दिया इस्तीफा
सिक्किम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भरत बस्नेत ने दिया इस्तीफा
देश

सिक्किम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भरत बस्नेत ने दिया इस्तीफा

news

- पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व पर लगाया तानाशाही से निर्णय थोपने का आरोप गंगटोक, 13 सितम्बर (हि.स.)। सिक्किम प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भरत बस्नेत ने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। शनिवार को बस्नेत ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित पार्टी के वरिष्ठ नेतृत्वों को अपना इस्तीफा भेज दिया है। भरत बस्नेत ने रविवार को आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के कुछ प्रमुख कारणों पर प्रकाश डाला। इनमें से पार्टी के केंद्रीय नेतृत्वों द्वारा राज्य कांग्रेस के नेतृत्व और पदाधिकारियों की उपेक्षा प्रमुख है। विशेष रूप से बस्नेत ने सिक्किम राज्य के प्रभारी के रूप में कुलजीत नागर की नियुक्ति पर पार्टी के प्रति असंतोष व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, 'पार्टी हाईकमान ने कुलजीत नागर को सिक्किम का प्रभारी नियुक्त किया है। इस बारे में राज्य कांग्रेस के अधिकारियों को कोई पूर्व सूचना नहीं दी गई थी। मुझसे भी इस बारे में सलाह नहीं ली गई।' उन्होंने कहा कि पार्टी आलाकमान के इस तरह के एकतरफा फैसले से हमारे स्वाभिमान को ठेस पहुंची है। उन्होंने कहा, 'राष्ट्रीय स्तर पर सिक्किम जैसे छोटे राज्य का कोई महत्व नहीं है। हम हाथ की पांचों उंगलियों में छोटी उंगली हैं लेकिन हम भी हाथ का हिस्सा हैं। अगर इस उंगली को काट दिया जाए तो हाथ की शोभा खो जाएगी।' उन्होंने पार्टी हाईकमान के प्रति असंतोष व्यक्त करते हुए कहा, 'इतने सालों तक हमनें पार्टी को संभाला है। राज्य में पार्टी के अस्तित्व को बचाया। पार्टी के हर फैसले को इमानदारी से पालन किया। लेकिन अब और नहीं।' उन्होंने पार्टी के नेतृत्वों पर तानाशाही रवैया अपनाने का आरोप लगाया और कहा कि वे अब इसे सहन नहीं कर सकते है। उन्होंने कहा कि पार्टी कब राज्य प्रभारी की नियुक्ति करती है और कब हटा देती है, इसका कोई ठिकाना नहीं रहता है। मैं कब तक ऐसे लोगों को अपना नेता स्वीकार करता रहूंगा जो टिकते ही नहीं है। अगर केंद्रीय नेतृत्व मेरी मान और सम्मान को नहीं समझता है, तो मैं ऐसे नेताओं की चौकीदारी अब और नहीं कर सकता हूं। सवालों के जवाब में बस्नेत ने कहा कि उन्होंने फिलहाल किसी पार्टी में ज्वइन करने के बारे में नहीं सोचा है। उल्लेखनीय है कि भारत बस्नेत सिक्किम के सबसे पुराने कांग्रेसियों में से एक है। वर्ष 2015 में वह पहली बार राज्य कांग्रेस अध्यक्ष चुने गए थे। उसके बाद अब तक बस्नेत ही पार्टी संभालते आ रहे है। कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार के रूप में उन्होंने तीन बार विधानसभा चुनाव और एक बार लोकसभा के लिए चुनाव लड़ा है। हिन्दुस्थान समाचार/बिशाल/सुनीत-hindusthansamachar.in