सपने शहर के हिसाब से नहीं देखने चाहिए: रणदीप राय
सपने शहर के हिसाब से नहीं देखने चाहिए: रणदीप राय
देश

सपने शहर के हिसाब से नहीं देखने चाहिए: रणदीप राय

news

इमामी रियलिटी नेचर के अनुभव केन्द्र का उद्घाटन करने आए थे रणदीप झांसी, 10 सितम्बर(हि.स.)। सपने शहर के हिसाब से नहीं देखने चाहिए। शहर छोटे-बड़े हो सकते हैं, लेकिन बड़े सपने देखकर उन्हें साकार करने के लिए मेहनत करने का अधिकार सभी के पास है। यह कहना है बुन्देलखण्ड की हृदयस्थली से निकलकर माया नगरी में धूम मचाने वाले युवा अभिनेता रणदीप राय का। वह यहां बीएचईएल के समीप स्थित इमामी रियलिटी नेचर द्वारा स्थापित विश्व स्तरीय अनुभव केन्द्र का उद्घाटन करने आए थे। ’ये उन दिनों की बात है’ सीरियल में काम के बाद चर्चित हुए झांसी के रणदीप राय ने बताया कि यहां वह रामनाथ सिटी में रहते हैं। हालांकि उनका पुराना मकान ऐतिहासिक दुर्ग के नीचे स्थित मिनर्वा चैराहे पर बना हुआ था। उन्होंने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा वीरांगना नगरी के क्राइस्ट द किंग काॅलेज से पूरी की है। उन्होंने बताया कि वह प्रकाश पर्व दीपोत्सव अपने जन्म स्थान पर ही मनाते हैं। इस बार मामला लाॅकडाउन के चलते अलग है। हालांकि उन्होंने बड़ी बेबाकी से हिन्दुस्थान समाचार के सारे प्रश्नों के उत्तर दिए। उन्होंने फिल्म इण्डस्ट्री में चल रहे भाई भतीजावाद के प्रश्न पर कहा कि ऐसा कोई क्षेत्र नहीं जहां पर यह न चलता हो। यह अलग बात है कि मुंबई में माया नगरी में इसकी अधिकता है। एक सवाल के जबाब में उन्होंने कहा कि मुंबई किसी एक इंसान की नहीं है। यह एकदम सच है। वह वहां पिछले 7 वर्ष से काम कर रहे हैं। संघर्षों का दौर भी उन्होंने देखा है। बुन्देलखण्ड की संस्कृति को प्रमोट करने के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि उन्हें कभी मौका नहीं मिला। यदि मौका मिला तो वह अपनी माटी को मुंबई में जरुर उन्नति के शिखर पर देखना चाहेंगे। अदाकारी की ओर रुझान के प्रश्न के उत्तर में उन्होंने बताया कि उन्हें प्रसिद्धि चाहिए थी और यह तीन तरह से मिल सकती थी। एक तो स्पोर्टस से,दूसरा पाॅलिटिक्स और तीसरा कलाकारी। इन तीनों में से मुझे यही रास्ता बेहतर लगा। उन्होंने बताया कि आगामी समय में उनकी एक बेब सीरीज व एक फिल्म भी आने वाली है। हालांकि कंगना के प्रश्न पर उन्होंने चुप्पी साध ली। इमामी रियलिटी नेचर के अनुभव केन्द्र का उद्घाटन आधुनिकता के दौर में प्रकृति के बीच सभी सुख सुविधाओं युक्त अपना घर आमव्यक्ति के लिए सपना साकार होने जैसा होता है। यह विचार भेल के निकट झांसी-ललितपुर हाईवे पर स्थित विश्व स्तरीय अनुभव केन्द्र का उदघाटन करते हुए मुख्य अतिथि प्रसिद्ध टीवी स्टार व वालीवुड अभिनेता रणदीप राय के साथ परियोजना के विपणन प्रमुख नागेन्द्र चैहान ने व्यक्त किए। नमन वर्धन ने बताया कि यहां पुरे प्रोजेक्ट का एक जीवंत स्केल मोडल जिग प्रोजेक्ट को सभी सुविधाओं और हरे वातावरण के उचित प्रदर्शन के साथ-साथ टाउनशिप में एकीकृत तरीके से मिलने वाले सुविधाओं को भी दर्शाया गया है। अनुभव केंद्र को भावी ग्राहकों की खरीद और चयन में पारदर्शी मदद और कय प्रक्रिया को आसान बनाने के उद्देश्य से बनाया गया है। सर्वकालीन डायरेक्टर राजेश बंसल ने कहा, हमारा प्रयास झांसी के लोगों को एक विश्वस्तरीय जीवन शैली प्रदान करना है। इंटरनेशनल फेम के वास्तुकार व डिजाइनर करेंगे निर्माण परियोजना के सेल्स प्रमुख नागेन्द्र चैहान ने कहा कि इमामी नेचर की अवधारणा और डिजाइन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित वास्तुकार और डिजाइनर, फेन डिजाइनर द्वारा किया गया है। पहले फेज में 223 करोड़ रुपयों के निवेश के साथ, इमामी रियल्टी ने इस साल जून में उत्तर प्रदेश के झांसी में अपनी मेगा टाउनशिप परियोजना इमामी नेचर लॉन्च की है। परियोजना का कुल निर्मित क्षेत्र 48.66 लाख वर्ग फुट है, लेकिन पहले चरण में,कंपनी 26.34 लाख वर्ग फुट का कुल निर्मित क्षेत्र का विकास करेगी। काॅलोनी में ही मिलेगी सारी सुविधाएं इमामी नेचर, एक घर के आराम में एक रिसॉर्ट के लक्जरी को मिश्रित करता है, जो स्वस्थ जीवन शैली की सुविधाओं का एक सही मिश्रण प्रदान करता है। इस परियोजना में जॉगिंग ट्रैक, ओपन जिमनैजियम, योग, ध्यान क्षेत्र, मंदिर, रिवरफ्रंट गतिविधियाँ जो कि समकालीन जीवन और विलासिता के साथ साथ मन की शांति प्रदान करती हैं की गई है। इन सुविधाओं के साथ परियोजना में आधुनिक सुविधाओं के साथ क्रिकेट और सॉकर मैदान, वॉलीबॉल, टेनिस और बैडमिंटन के लिए अलग-अलग कोर्ट, जल निकायों के साथ हरे भरे भूदृभाग वाले बगीचे, खुले क्षेत्र और साथ ही वरिष्ठ नागरीकों के लिए विशेष गतिविधि क्षेत्रों को सुंदरता के साथ प्रस्तुत किया गया है। टाउनशिप परियोजना के प्रवेश में एक सुंदर रूप से डिजाइन किया गया गेट होगा, जबकि बीच में लगभग 1 लाख वर्ग फुट में फैला एक विशाल सेंट्रल पार्क होगा। उच्च स्वच्छता मानकों को ध्यान में रखते हुए, परियोजना एक अलग पालतू पशुओं के लिए पैट राहत क्षेत्र और एक अत्याधुनिक कचरा अपशिष्ट प्रबंधन प्रणाली भी पेश करेगी। हिन्दुस्थान समाचार/महेश-hindusthansamachar.in