संसदीय समिति के समक्ष अमेजन का पेश होने से इंकार करना विशेषाधिकार हनन का मामला : लेखी
संसदीय समिति के समक्ष अमेजन का पेश होने से इंकार करना विशेषाधिकार हनन का मामला : लेखी
देश

संसदीय समिति के समक्ष अमेजन का पेश होने से इंकार करना विशेषाधिकार हनन का मामला : लेखी

news

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (हि.स.)। ई-कामर्स के क्षेत्र की मशहूर कंपनी अमेजन द्वारा संसद की संयुक्त समिति के समक्ष प्रस्तुत होने से इंकार करने पर समिति की अध्यक्ष व भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद मीनाक्षी लेखी ने इसे संसदीय विशेषाधिकार का हनन बताया है। उन्होंने कहा कि अमेजन का संसदीय समिति के सामने पेश होने से इंकार करना सीधे तौर पर संसदीय विशेषाधिकार हनन का मामला है। संसदीय समिति ने अमेजन को 28 अक्टूबर को पेश होने को कहा था लेकिन उसने समिति के समक्ष पेश होने से इंकार कर दिया है। लेखी ने कहा कि गूगल और पेटीएम को डेटा सुरक्षा के मामले को लेकर 29 अक्टूर को होने वाली संयुक्त संसदीय समिति से समक्ष पेश होने के लिए समन जारी किया गया है। जानकारी के मुताबिक, माइक्रो ब्लागिंग साइट ट्विटर और फेसबुक को भी 28 और 29 अक्टूबर को होने वाली संयुक्त संसदीय समिति की बैठक में उपस्थित होने को कहा गया है। पर्सनल डाटा प्रोटेक्शन बिल 2019 के मसले पर संसदीय समिति की बैठक 28 और 29 अक्टूबर को होगी। संसद भवन परिसर में होने वाली इस बैठक में गुगल, पेटीएम, फेसबुकॉ और ट्विटर को डेटा सुरक्षा से संबंधित सबूत पेश करने होंगे। बैठक के बारे में जानकारी देते हुए समिति की अध्यक्ष मीनाक्षी लेखी ने कहा कि जिसे भी तलब किए जाने की जरूरत होगी उसे समिति के समक्ष पेश होने को कहा जाएगा। वह कोई व्यक्ति हो अथवा कंपनी, समिति उसे बुलाएगी तथा किसी को भी भारत के सुरक्षा हितों से समझौता करने नहीं दिया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/अजीत-hindusthansamachar.in