संघ का असल रूप देखना हो तो जरा नागपुर आकर उसका सेवा कार्य देखें

संघ का असल रूप देखना हो तो जरा नागपुर आकर उसका सेवा कार्य देखें
संघ-का-असल-रूप-देखना-हो-तो-जरा-नागपुर-आकर-उसका-सेवा-कार्य-देखें

जो संघ को नहीं जानते, वे संघ के बारे में सबसे ज्यादा कहते और लिखते हैं, पर जो जानते हैं वे संघ की केशव-सृष्टि के साथ इतने एकात्म हो रहते हैं कि उसके बारे में कहना, लिखना कम ही होता है। गत सप्ताह मैं नागपुर गया, स्मृति मंदिर की पुण्य क्लिक »-www.prabhasakshi.com