वसूली गैंग से परेशान किसान ने मौत से पहले बनाए चार वीडियो, बोला- बहुत दिनों से ब्लैकमेल कर रहे थे, मास्टरमाइंड की बहन भी शामिल है
वसूली गैंग से परेशान किसान ने मौत से पहले बनाए चार वीडियो, बोला- बहुत दिनों से ब्लैकमेल कर रहे थे, मास्टरमाइंड की बहन भी शामिल है
देश

वसूली गैंग से परेशान किसान ने मौत से पहले बनाए चार वीडियो, बोला- बहुत दिनों से ब्लैकमेल कर रहे थे, मास्टरमाइंड की बहन भी शामिल है

news

अजय बाग कॉलोनी में रहने वाले एक किसान ने जहर खाकर जान दे दी। इससे पहले उसने घर में अलग-अलग लोकेशन पर जाकर चार वीडियो बनाए। इसमें एक मास्टरमाइंड द्वारा परेशान करने की बात कही। साथ ही उसकी बहन और जीजा को भी दोषी बताया। किसान ने मौत से पहले कहा कि ये सभी उसे ब्लैकमेल करते थे। लाखों रुपए ले चुके हैं। मामले में पुलिस जांच कर रही है। आजाद नगर पुलिस के अनुसार अजय बाग कॉलोनी में रहने वाले 42 वर्षीय किसान संजय पिता कैलाश चौधरी ने बुधवार को घर पर जहर खा लिया था। उसे परिजन निजी अस्पताल ले गए, जहां उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। रिश्तेदार विनोद चौधरी के अनुसार संजय संपन्न था। उसके पास नेमावर रोड, गारिया और लसूड़िया में करीब 100 एकड़ जमीन है। उसे जब अस्पताल ले जा रहे थे, तब उसने मौत का कारण बताया। बहन और जीजा को भी दोषी ठहराया किसान ने बताया कि उसने मोबाइल में चार वीडियो बनाए, इसमें उसने अमननगर के घनश्याम सोनी का नाम बताया। बताया कि उनकी एक वसूली गैंग है, जो लोगों को धमकाती है। उन्हें ब्लैकमेल करती है। लोगों के वीडियो भी बना लेती है। संजय भी उनकी चुंगल में फंस गया था। इस गैंग ने संजय से अब तक लाखों रुपए वसूल लिए हैं। वसूली करने के लिए घनश्याम किसी बड़ी गाड़ी में आता था। वीडियो में संजय ने घनश्याम की बहन और जीजा को भी अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है। परिजन बोले – आरोपी के पास कोई ऐसी चीज है, जिससे ब्लैकमेल किया परिजन को आशंका है कि आरोपी ने संजय को भी किसी तरह से धमकाया था। उसकी कुछ ऐसी चीज कब्जे में ली होगी, जिससे वह परेशान हो गया था। परिजन ने ये सभी वीडियो मोबाइल सहित पुलिस के हवाले कर दिए हैं। परिजन का कहना है कि पुलिस ने घनश्याम को हिरासत में ले लिया है। अभी उससे पूछताछ भी की जा रही है। आरोपी ने किसान को बहुत प्रताड़ित किया टीआई मनीष डाबर के अनुसार, अभी परिजन के बयान और मोबाइल के वीडियो देखने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा। अभी परिजन गमगीन होने से बयान नहीं दे पाए हैं। हालांकि प्रथम दृष्टया मामला लेनदेन का बताया जा रहा है। आरोपियों ने किसान को बहुत प्रताड़ित कर दिया था। कल तक हम जांच पूरी कर केस दर्ज कर लेंगे।-newsindialive.in