लॉकडाउन में शराब नहीं मिली तो 10 दिन से पी रहे थे सैनिटाइजर, एक ही गांव के 9 लोगों की मौत
लॉकडाउन में शराब नहीं मिली तो 10 दिन से पी रहे थे सैनिटाइजर, एक ही गांव के 9 लोगों की मौत

लॉकडाउन में शराब नहीं मिली तो 10 दिन से पी रहे थे सैनिटाइजर, एक ही गांव के 9 लोगों की मौत

आंध्र प्रदेश के प्रकासम जिले में कम से कम नौ लोगों की कथित तौर पर सैनिटाइजर पीने से मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक, ये लोग बीते कुछ दिन से सैनटाइजर को पानी और सॉफ्ट ड्रिंक में मिलाकर पी रहे थे। उन्होंने कहा, हम यह जांच भी कर रहे हैं क्या वे सैनिटाइजर का सेवन अन्य नशीले पदार्थों के साथ मिलाकर भी कर रहे थे। परिवार के सदस्यों ने बताया कि ये लोग बीते दस दिन से सैनिटाइजर पी रहे थे। इलाके में बिकने वाले सैनिटाइजर को जांच के लिए भेजा गया है। इलाके में लॉकडाउन लगा है, शराब की दुकानें बंद कोरोना वायरस के मामले बढ़ने के कारण कुरीचेंदू में लॉकडाउन है, ऐसे में यहां बीते कुछ दिन से शराब की दुकानें भी बंद चल रही हैं। बताया जाता है कि शराब के लती सैनिटाइजर पी जाते हैं, क्योंकि उसमें कुछ मात्रा में अल्कोहल भी होता है। दो भिखारियों की भी हो गई थी मौत बृहस्पतिवार को सैनिटाइजर पीने से दो भिखारियों और एक अन्य व्यक्ति की मौत हो गई थी। पुलिस ने बताया कि छह अन्य की शुक्रवार सुबह मौत हुई। सैनिटाइजर पीने वाले कुछ और लोगों का इलाज चल रहा है। 3 भिखारी, 3 रिक्शा और 3 कुली की मौत डीएसपी के प्रकाश राव ने कहा, तीन भिखारी, तीन रिक्शा चालक और तीन कुली ने शराब की बजाय सैनिटाइटर का सेवन कर लिया। एक की इलाज के दौरान मौत हो गई जबकि बाकी अन्य की नींद में मौत हो गई। मामले की जांच की जा रही है। पंजाब में जहरीली शराब पीने से 2 दिन में 21 लोगों की मौत हो गई। पंजाब सरकार ने जांच के आदेश दिए है। इस मामले में पुलिस ने एसआईटी बनाई है। एक पुलिसकर्मी को सस्पेंड भी किया गया है। पुलिस ने शिकायत के बाद कार्रवाई नहीं की मृतकों के परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं की। एक अन्य मृतक के परिजन ने बताया कि उनका बेटा गुरुवार को शराब पीकर घर आया था, अचानक उसकी तबीयत बिगड़ गई। हॉस्पिटल ले जाने के बाद डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया।-newsindialive.in

Last updated