लॉकडाउन के बावजूद बांग्लादेश में जारी रहेगी सामानों की आपूर्ति
लॉकडाउन के बावजूद बांग्लादेश में जारी रहेगी सामानों की आपूर्ति
देश

लॉकडाउन के बावजूद बांग्लादेश में जारी रहेगी सामानों की आपूर्ति

news

कोलकाता, 23 जुलाई (हि.स.)। भारत बांग्लादेश के बीच मौजूदा दोस्ताना संबंधों को देखते हुए सरकार ने लॉकडाउन की पाबंदियों के बीच भी बांग्लादेश में जरूरी सामानों की आपूर्ति बरकरार रखने का निर्णय लिया है। इसके पहले भारत सरकार के आदेश के बावजूद बंगाल सरकार ने बांग्लादेश से ट्रकों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया था लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। 31 जुलाई तक लॉकडाउन के बावजूद किसी भी दिन भूतल परिवहन पर पाबंदी नहीं होगी। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बंगाल सरकार ने हर हफ्ते दो दिन पूरे राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन का फैसला किया है। इसके मद्देनजर 23, 25 व 29 जुलाई को संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा और इस दौरान सिर्फ जरूरी सेवाओं को बंद से छूट होगी। इसमें बंगाल व बांग्लादेश भूमि सीमाओं के जरिए ट्रकों के माध्यम से होने वाले माल के आयात और निर्यात को भी इससे छूट दी गई है। बंगाल के उत्तर 24 परगना में स्थित देश के सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय चेकपोस्ट पेट्रापोल के जरिए ट्रकों की आवाजाही जारी रहेगी। बीएसएफ सूत्रों ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान इस चेक पोस्ट के जरिए आयात- निर्यात जारी रहेगा और दोनों देशों के बीच ट्रेड पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा। दरअसल, इस चेक पोस्ट की सुरक्षा व संचालन का जिम्मा बीएसएफ पर है। कोरोना संकट के चलते पिछले दिनों लंबे समय तक इस चेकपोस्ट के जरिए ट्रकों की आवाजाही बंद थी। इसके कारण दोनों देशों के व्यापार पर भी काफी असर पड़ा। बीच में कई बार आवाजाही शुरू हुई लेकिन फिर गतिरोध के कारण बंद हो गया। करीब 10 दिन पहले केंद्र व राज्य के साथ बातचीत के बाद फिर से इस चेक पोस्ट के जरिए माल का आयात और निर्यात शुरू हुआ है। बंगाल सरकार के विरोध के चलते ट्रकों की आवाजाही बंद थी। बंगाल सरकार मांग कर रही थी कि कोरोना महामारी के कारण बांग्लादेश से आने वाले ट्रक ड्राइवरों को राज्य में प्रवेश से पहले 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में रखा जाए। हालांकि बाद में बंगाल सरकार ने पेट्रापोल के रास्ते आयात की अनुमति दी है और सीमा व्यापार मामले को सुलझा लिया गया। इसके पहले केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने बंगाल सरकार को सख्त चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर राज्य सरकार केंद्र के आदेश के बावजूद ट्रकों की आवाजाही को अनुमति नहीं देती है तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/बच्चन-hindusthansamachar.in