रेल मंत्री से मिला पंजाब के नेताओं का उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल
रेल मंत्री से मिला पंजाब के नेताओं का उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल
देश

रेल मंत्री से मिला पंजाब के नेताओं का उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल

news

नई दिल्ली, 05 नवंबर (हि.स.)। पंजाब में रेल सेवाओं की बहाली की मांग को लेकर केंद्रीय और राज्य स्तरीय नेता का एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल गुरुवार को यहां रेल मंत्री पीयूष गोयल से मिला। गोयल ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वस्त किया कि गाड़ियों के संचालन के लिए रेलवे पूरी तरह से तैयार है, मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की ओर से सुरक्षा का आश्वासन मिलने के बाद ट्रेनों का संचालन शुरु हो जाएगा। पंजाब का प्रतिनिधित्व करने वाले केंद्रीय और राज्य स्तरीय नेताओं के उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल में केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुग, भाजपा प्रवक्ता आर.पी. सिंह और पंजाब के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा शामिल थे। उन्होंने किसान आंदोलन के कारण राज्य में निराशाजनक स्थिति से रेल मंत्री को अवगत कराया कि कैसे खेतों और उद्योगों में सामान्य जीवन और उत्पादन बाधित हो रहा है। उन्होंने जल्द से जल्द राज्य में ट्रेन सेवाओं की बहाली का अनुरोध किया। पंजाब में जारी किसान आंदोलन से विशेष रूप से रेल संपत्ति को निशाना बनाया जा रहा है। पिछले एक महीने से राज्य में यात्री और मालगाड़ी सेवाएं ठप हैं। इसके चलते राज्य अब कोयला, उर्वरक, सीमेंट, कंटेनर और स्टील की भारी कमी का सामना कर रहा है, यह थर्मल पावर प्लांट और अन्य उद्योगों के कामकाज पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रहा है। रेल मंत्रालय ने पंजाब सरकार से अनुरोध किया है कि वह रेल ट्रैक और रेलवे संपत्तियों को आंदोलनकारियों से मुक्त कराये, ताकि रेलवे राज्य और देश के लोगों के बड़े हित में जल्द से जल्द मालगाड़ी और यात्री सेवाओं को फिर से शुरू कर सके। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मुलाकात के दौरान कहा कि पंजाब सरकार का भरोसा दे तो हम तुरंत ट्रेन व्यवस्था को तैयार करेंगे। हम पंजाब की जनता, किसान और उद्योग जगत की सेवा के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। प्रतिनिधिमंडल ने रेल मंत्री को सौंपे ज्ञापन में राज्य सरकार पर हालात सुधारने के लिए उचित कदम उठाने के बजाये राजनीति करने का आरोप लगाया है। आंदोलन के कारण राज्य में उद्योग और वाणिज्य लगभग बंद हो गए हैं। दूसरी ओर उर्वरक और कीटनाशकों की कमी कृषि क्षेत्र के लिए एक बड़ी समस्या बनती जा रही है। केंद्रीय मंत्री इस बात से अवगत हैं कि त्योहारी सीजन में राज्य के लोग रेल न चलने के कारण यात्रा नहीं कर सकते हैं। यह ध्यान रखना आवश्यक है कि राज्य सरकार की उदासीनता के कारण जम्मू-कश्मीर को भी आवश्यक सामान की आपूर्ति बाधित हो गई है। हिन्दुस्थान समाचार/सुशील-hindusthansamachar.in