राज्यसभा के निलंबित सदस्यों के समर्थन में शरद पवार का आज अन्नत्याग आंदोलन
राज्यसभा के निलंबित सदस्यों के समर्थन में शरद पवार का आज अन्नत्याग आंदोलन
देश

राज्यसभा के निलंबित सदस्यों के समर्थन में शरद पवार का आज अन्नत्याग आंदोलन

news

मुंबई, 22 सितम्बर (हि.स.)। राष्ट्रवादी कांग्रेस के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि राज्यसभा के निलंबित सदस्यों के समर्थन में आज मैंने अन्नत्याग किया है। पवार ने कहा कि सभापति ने सदन की गरिमा को आघात पहुंचाने का काम किया है। उनकी पार्टी केंद्र सरकार की ओर लाए गए नए कृषि विधेयक का पुरजोर विरोध करती रहेगी। किसानों के 105 संगठनों की ओर से 25 सितम्बर को आयोजित किसान आंदोलन को राकांपा का समर्थन रहेगा। शरद पवार ने मंगलवार को पत्रकारों को बताया कि राज्यसभा के उपसभापति की भूमिका इस विधेयक को लेकर जल्दबाजी की थी। इस मुद्दे पर वे चर्चा चाहते थे लेकिन उपसभापति किसी भी तरह विधेयक को पास करवाना चाहते थे। इसी वजह से सदस्यों ने अपनी भावना व्यक्त की थी और उन्हें निलंबित कर दिया गया। राकांपा सदस्य प्रफुल्ल पटेल, सुप्रिया सुले, फौजिया खान ने पार्टी की भूमिका स्पष्ट करते हुए कृषि विधेयक के विरोध में मत व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इस मामले में शिवसेना की भूमिका उनके नेता ही स्पष्ट कर सकते हैं। शरद पवार ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से लाया गया कृषि विधेयक संभ्रमित करने वाला है। एक तरफ सरकार ने इस विधेयक में किसानों के लिए बाजार मुक्त करने की बात की है,दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने प्याज के निर्यात पर पाबंदी लगा दी है। शरद पवार ने आयकर की नोटिस के बारे में कहा कि केंद्र सरकार का उनसे अत्यधिक प्रेम है, इसी वजह से इस तरह के नोटिस भेजते रहते हैं। इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता है। शरद पवार ने कहा कि महाराष्ट्र में महाविकास आघाड़ी सरकार बेहतर काम कर रही है। महाविकास आघाड़ी सरकार में शामिल दलों में बेहतर तालमेल है। हिन्दुस्थान समाचार / राजबहादुर-hindusthansamachar.in