रक्षा बंधन से पहले 3 भाई-बहनों की दर्दनाक मौत, चीखते हुए कह रहे माता-पिता अब इन राखी क्या करेंगे
रक्षा बंधन से पहले 3 भाई-बहनों की दर्दनाक मौत, चीखते हुए कह रहे माता-पिता अब इन राखी क्या करेंगे
देश

रक्षा बंधन से पहले 3 भाई-बहनों की दर्दनाक मौत, चीखते हुए कह रहे माता-पिता अब इन राखी क्या करेंगे

news

दो दिन बाद देश में रक्षबंधन का त्यौहार मनाया जाएगा। इस दिन का सभी भाई-बहन बड़ी बेसब्री से इंतजार करते हैं। लेकिन देवभूमि कहे जाने वाले उत्तराखंड के एक परिवार के लिए यह दिन मातम मनाते हुए बीतेगा। क्योंकि रक्षा बंधन से 2 दिन पहले तीन भाई बहनों की मलबे में दबकर दर्दनाक मौत हो गई। दरअसल, ऋषिकेश-गंगोत्री नेशनल हाइवे पर बसे खेड़ागांव में शुक्रवार के दिन अचानक हादसा हो गया। हाइवे का भारी भरकम पुश्ता टूटकर एक दो मंजिले मकान के ऊपर गिर गया। जिससे मकान पूरी तरह से टूट गया और कमरे में सो रहे तीन भाई बहन उसके नीचे दब गए। चीख-पुकार की आवाज सुनकर गांव के लोग मौके पर पहुंचे और पुलिस को बुलाया गया। लेकिन जब तक तीनों की मौत हो चुकी थी। हादसे में मरने वालों में दो बहने और एक भाई शामिल है। बताया जा रहा है कि इस हादसे में बच्चों के साथ उनके पिता धर्म सिंह दब गए थे। लेकिन उनको ग्रामीणों ने जिंदा निकाल लिया है। कुछ देर बाद मौके पर पहुंची एसडीआरएफ की टीम ने मलबे से तीनों भाई बहनों के शव निकाल लिए। मृतकों में धर्म सिंह के दो बच्चे और उनके साडू की एक बेटी शामिल है। जहां मरने वालों में भाई अंकित (18) और बहन विनीता (25) के साथ ही उनके मौसा की बेटी नीलम (18) है। मृतकों के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है, वह बार बार यही कह रहे हैं कि तीनों बच्चे रोज राखी को लेकर बातें करते थे। लेकिन इस हादसे ने तो त्यौहार के आने से पहले उनको ही छीन लिया। अब हम किसके सहारे जीएंगे। हादसे के बाद ऋषिकेश-गंगोत्री नेशनल हाइवे पर मलबा हटाती हुई एनडीआरएफ की टीम।-newsindialive.in