रक्षाबंधन के दिन रोडवेज ने ज्यादा से ज्यादा ड्राइवर-कंडक्टर को बुलाया, सुबह से चलना शुरू होंगी बसें
रक्षाबंधन के दिन रोडवेज ने ज्यादा से ज्यादा ड्राइवर-कंडक्टर को बुलाया, सुबह से चलना शुरू होंगी बसें
देश

रक्षाबंधन के दिन रोडवेज ने ज्यादा से ज्यादा ड्राइवर-कंडक्टर को बुलाया, सुबह से चलना शुरू होंगी बसें

news

हरियाणा में अनलॉक-3 का दूसरा दिन है। कोरोना काल के बीच 3 अगस्त को रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाएगा। ऐसे में हरियाणा रोडवेज ने अपनी तैयारी पूरी कर ली हैं। प्रदेशभर में अलसुबह से बसों का संचालन शुरू हो जाएगा। एक रोडवेज प्रवक्ता का कहना है कि सभी डिपो में आम दिनों से ज्यादा रूट पर बसें चलाई जाएंगी। हालांकि यात्रियों की संख्या को अवलोकन होगा, इसके आधार पर बसों को भेजा जाएगा। रोडवेज विभाग ने ज्यादा से ज्यादा ड्राइवर और कंडक्टर को 3 और 4 अगस्त को ड्यूटी पर बुला लिया है, भीड़ को ध्यान में रखकर उन्हें ड्यूटी के लिए रवाना किया जाएगा। बसों में इस बार महिलाओं के लिए फ्री यात्रा का प्रावधान नहीं किया गया है, सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाना सभी को अनिवार्य होगा। हिमाचल, चंडीगढ़, राजस्थान, दिल्ली और उत्तराखंड में अभी हरियाणा रोडवेज को एंट्री नहीं मिली है। गुड़गांव में 8 लोगों ने दान किया प्लाज्मा गुड़गांव में खोले गए प्लाज्मा बैंक में अभी तक 8 लोगों ने प्लाज्मा दान किया है। वहीं यहां से प्लाज्मा लेकर एक निजी अस्पताल में इलाज करवा रहे मरीज की जान बचाई गई है। रोटरी ब्लड बैंक जहां प्लाज्मा बैंक बनाया गया है, वे ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्लाज्मा दान करने के लिए कह रहे हैं। प्लाज्मा का रेट 8500 रुपये प्रति यूनिट तय किया गया है, जबकि बीपीएल कार्ड धारक और गर्भवती महिला के लिए इसे निशुल्क रखा गया है। कोरोना का असर नए सत्र में कॉलेजों के अंदर 70 फीसदी कक्षाएं ऑनलाइन होंगी हरियाणा में 4 अगस्त से कॉलेज खुल जाएंगे। इसके साथ ही नई कक्षाओं के लिए दाखिला प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। उच्च शिक्षा निदेशालय ने प्रदेश के सभी कॉलेज प्रिंसिपल को इस संबंध में दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। पहले ही तरह कॉलेज का टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टाफ उपस्थित रहेगा। कॉलेज प्रिंसिपल को निर्देश दिए गए हैं कि वह तुरंत टाइम टेबल तैयार करवाएं और सभी अध्यापकों को उसके अनुसार ऑनलाइन लेक्चर देने को कहें। निदेशालय ने निर्देश दिए हैं कि इस तरह से पाठयक्रम शुरू किया जाए कि नवंबर तक ऑनलाइन प्रणाली के माध्यम से 70 प्रतिशत पाठयक्रम पूरा कर लिया जाए। इसमें पाठयक्रम के उस हिस्से को शामिल किया जाए जिसमें विद्यार्थियों और प्राध्यापकों के आमने-सामने बैठने की जरूरत नहीं है। 30 प्रतिशत पाठयक्रम को पेंडिंग छोड़ दिया जाएगा और इसे उस समय पूरा किया जाएगा जब विद्यार्थी कॉलेज में आने लगेंगे और पहले की तरह कॉलेजों में पढ़ाई होने लगेगी। प्रदेश में ये है कोरोना की स्थिति प्रदेश में रिकवरी रेट 0.59 फीसद की बढ़ोतरी के साथ 81.32 रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है तो पॉजिटिव रेट में 0.2 फीसद की गिरावट आई है। 793 नए मामलों के साथ संक्रमितों की संख्या साढ़े 35 हजार के पार पहुंच गई। राहत की बात यह है कि 853 मरीज कोरोना को हराकर घर लौटे। 127 मरीजों की हालत नाजुक बनी हुई है। इनमें 111 मरीजों की सांसें ऑक्सीजन के सहारे चल रही हैं तो 16 वेंटीलेटर पर जिंदगी जंग लड़ रहे हैं। संक्रमितों का आंकड़ा 35,758 पर पहुंच गया। इसमें से 81 फीसद मरीज यानि 29,080 ठीक होकर घर लौट चुके हैं। अब 6250 मरीजों का इलाज अस्पतालों में चल रहा है। अब तक 428 मरीजों की कोरोना से मौत प्रदेश में अभी तक 428 मरीजों की मौत हुई है, इनमें 306 पुरूष और 122 महिला शामिल हैं। अभी तक फरीदाबाद में 134, गुड़गांव में 124, सोनीपत में 32, रोहतक में 23, अंबाला में 16, पानीपत में 15, नूंह में 12, हिसार, झज्जर, करनाल व नूंह में 10-10, पलवल में 9, रेवाड़ी में 8-8, भिवानी व जींद में 5-5, कुरुक्षेत्र में 4, यमुनानगर में 3, पंचकूला, फतेहाबाद व सिरसा में 2-2 तथा नारनौल व चरखी-दादरी में 1-1 मरीज की मौत हो चुकी है।-newsindialive.in