मॉनसून सत्र सोमवार से, कोरोना संक्रमित मिले पांच सांसद
मॉनसून सत्र सोमवार से, कोरोना संक्रमित मिले पांच सांसद
देश

मॉनसून सत्र सोमवार से, कोरोना संक्रमित मिले पांच सांसद

news

- सत्र शुरू होने से पहले की जा रही है सभी संसद सदस्यों की कोरोना जांच - सदस्यों को संक्रमण से बचाने के लिए किये जा रहे हैं हर संभव उपाय नई दिल्ली, 13 सितम्बर (हि.स.)। सोमवार से शुरू हो रहे संसद के मॉनसून सत्र से पहले सभी सांसदों का कोविड-19 टेस्ट किया जा रहा है। रविवार को भी लोकसभा और राज्यसभा के तमाम सदस्यों ने संसद भवन परिसर स्थित एनेक्सी में कोरोना टेस्ट कराया, जिसमें से पांच सदस्य कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। रविवार को दोनों सदनों के तमाम सदस्यों ने कोरोना जांच कराई। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, पूर्व मंत्री व सांसद सत्यपाल सिंह, लोकजनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान समेत तमाम सदस्य कोरोना जांच करते नजर आए। इसके साथ ही लोकसभा व राज्यसभा के तमाम अधिकारी, कर्मचारी, सुरक्षाकर्मी व मीडिया के लोग भी जांच कराने पहुंचे। लोकसभा सचिवालय के एक अधिकारी ने बताया कि सोमवार से शुरू हो रहे मॉनसून सत्र में स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से तय सभी दिशानिर्देशों का कड़ाई से पालन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के मद्देनजर कागज का कम से कम उपयोग करने का प्रयास किया जा रहा है। सांसद अपनी उपस्थिति डिजिटल माध्यम से दर्ज कराएंगे। सदन में प्रवेश करने वाले सभी लोगों के शरीर के तापमान को जांचने के लिए थर्मल गन और थर्मल स्कैनर का उपयोग किया जाएगा। सदन के भीतर 40 स्थानों पर टचलेस सेनिटाइटर लगाए गए हैं। साथ ही आपातकालीन मेडिकल टीम और स्टैंडबाय पर एम्बुलेंस की सुविधा भी उपलब्ध रहेगी। उन्होंने बताया कि कार्यवाही में भाग लेने वाले सदस्यों की उपस्थिति मोबाइल के माध्यम से की जाएगी। मॉनसून सत्र में शून्यकाल आधे घंटे का होगा और कोई प्रश्नकाल नहीं होगा, हालांकि सदस्य लिखित प्रश्न पूछ सकेंगे और उनके जवाब भी लिखित में दिए जाएंगे। शनिवार और रविवार को कोई छुट्टी नहीं होगी। 14 सितम्बर को लोक सभा की बैठक प्रात: नौ बजे से अपराह्न एक बजे तक होगी और 15 सितम्बर से 01 अक्टूबर तक बैठकें अपराह्न तीन बजे से सायं सात बजे तक होंगी। इस सत्र का आयोजन दोनों सभाओं के कक्षों में किया जाएगा। लोक सभा कक्ष में 257 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था होगी और 172 सदस्य लोक सभा की दीर्घाओं में बैठेंगे। राज्य सभा कक्ष में 60 सदस्यों के बैठने की व्यवस्था की गई है और 51 सदस्य राज्य सभा की दीर्घाओं में बैठेंगे। सदस्यों को संक्रमण से बचाने के लिए सीटों के बीच पारदर्शी पॉलिकार्बोनेट शीट लगाई गई हैं । हिन्दुस्थान समाचार/अजीत/सुनीत-hindusthansamachar.in