भोपाल के 10 अस्पतालों और कंटेनमेंट क्षेत्र में एंटीजन टेस्ट शुरू, आधे घंटे में मिल रही टेस्ट रिपोर्ट
भोपाल के 10 अस्पतालों और कंटेनमेंट क्षेत्र में एंटीजन टेस्ट शुरू, आधे घंटे में मिल रही टेस्ट रिपोर्ट
देश

भोपाल के 10 अस्पतालों और कंटेनमेंट क्षेत्र में एंटीजन टेस्ट शुरू, आधे घंटे में मिल रही टेस्ट रिपोर्ट

news

राजधानी भोपाल में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते गुरुवार से रैपिड एंटीजन टेस्ट शुरू हो गए हैं। ट्रायल के लिए तहत 10 अस्पतालों और पांच एसडीएम कार्यालयों में करीब 300 किट दी गई थीं। शुक्रवार को इसमें से 50 सैंपल मौके पर लिए गए। इसकी रिपोर्ट 30 मिनट में मिल गई। इस तरह शहर में 10 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई, जबकि अन्य 40 निगेटिव पाए गए। शुक्रवार को बैरागढ़ सर्किल में होटल वुड विला में क्वारैंटाइन लोगों का टेस्ट लिया गया। 7 लोगों के सैंपल लिए गए, इसमें से 3 पॉजिटिव और चार निगेटिव मरीज मिले। मालवीय नगर में 10 लोगों के सैंपल प्रमुख सचिव स्वास्थ्य फैज अहमद किदवई की उपस्थिति में लिए गए। इनमें से सिर्फ एक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिला है। शेष 9 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। भोपाल में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए रैपिड टेस्ट कराने का निर्णय लिया गया था। कोरोना के संक्रमित मरीजों की जल्दी पहचान करने के लिए शहर में बुधवार से रेपिड एंटीजन टेस्ट शुरू कर दिए गए। यह टेस्ट शहर के दस अस्पतालों में रैपिड किट से शुरू किए गए हैं। उन्हें कोरोना रिपोर्ट की जरूरत है। विशेषतौर पर 65 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों को प्राथमिकता दी जाएगी। पहले दिन करीब 300 लोगों की जांच की गई। एंटीजन टेस्ट भोपाल में चालू करने के लिए 15 हजार रैपिड टेस्ट किट की पहली खेप आ गई है। इसके लिए और ऑर्डर दे दिए गए हैं। जल्दी ही पूरे प्रदेश में भेजे जाएंगे। हालांकि, भोपाल में भी एंटीजन टेस्ट 30 फीसदी ही किए जाएंगे, बाकी 70 फीसदी आरटीपीसीआर टेस्ट होंगे। आधे घंटे में मिलेगी कोरोना की रिपोर्ट रैपिड किट से एंटीजन टेस्ट करने के 30 मिनट में रिजल्ट पता चल सकेगा। पॉजिटिव रिपोर्ट सही मानी जाएगी, लेकिन निगेटिव रिजल्ट आने वाले मरीजों की निगरानी की जाएगी। यदि बाद में मरीज को लक्षण नजर आए तो आरटीपीसीआर से जांच कराई जाएगी। मामले में सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी का कहना है कि करीब एक हजार किट मिली हैं। 10 हजार और किट मिलने वाली हैं। इस किट की रिपोर्ट से यह स्पष्ट हो जाएगा कि भोपाल में कम्युनिटी स्प्रेड (सामुदायिक संक्रमण) है या नहीं। इन अस्पतालों को किया गया चिन्हित गैस राहत अस्पताल: जवाहर लाल नेहरू अस्पताल, कमला नेहरू अस्पताल, खान शाकिर अली अस्पताल, मास्टर लाल सिंह अस्पताल और रसूल अहमद सिद्दीकी पल्मोनरी मेडिसिन सेंटर शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग के अस्पताल: सिविल हॉस्पिटल बैरागढ़, सीएचसी बैरसिया, सीएचसी कोलार, सिविल डिस्पेंसरी गोविंदपुरा और यूपीएचसी गुलाबी नगर शामिल हैं।-newsindialive.in