बिहारः आखिरी चरण में 15 जिलों की 78 सीटों पर मतदान शुरू
बिहारः आखिरी चरण में 15 जिलों की 78 सीटों पर मतदान शुरू
देश

बिहारः आखिरी चरण में 15 जिलों की 78 सीटों पर मतदान शुरू

news

- चार विधानसभा सीटों पर सुबह 7 से शाम चार और शेष पर छह बजे तक डाले जायेंगे वोट राजीव मिश्र पटना, 07 नवम्बर (हि.स.)। कोरोना गाइडलाइन और कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बिहार विधानसभा के तीसरे और अंतिम चरण में 15 जिलों की 78 सीटों पर मतदान शनिवार सुबह सात बजे शुरू हो गया है।मतदान शुरू होने से पहले ही कई बूथों पर कतारें लगनी शुरू हो गईं। इस चरण में 2.35 करोड़ मतदाता 1,204 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा। इनमें 110 महिला उम्मीदवार हैं। मतदाताओं में 1,12,06,378 महिलाएं और 894 ट्रांसजेंडर हैं। शांतिपूर्ण और निष्पक्ष मतदान के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। कोरोना वायरस महामारी को लेकर बूथों पर अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है।अतिसंवेदनशील चार विधानसभा क्षेत्रों पश्चिम चंपारण जिला के वाल्मीकिनगर, रामनगर और सहरसा जिला के सिमरी बख्तियारपुर, महिषी में शाम 4 बजे तक वोट डाले जायेंगे। शेष 74 सीटों पर शाम छह बजे तक मतदान होगा। इसके लिए 33,782 मतदान केंद्र बनाये गये हैं। इनमें से 4,999 मतदान केंद्र संवेदनशील घोषित किये गये हैं। मतदान के लिए सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किये गये हैं। मतदाताओं की संख्या के लिहाज से सहरसा सबसे बड़ी और मुजफ्फरपुर की गायघाट सबसे छोटी सीट है। महागठबंधन में 46 उम्मीदवार राजद के टिकट पर, 25 उम्मीदवार कांग्रेस के टिकट पर, पांच उम्मीदवार सीपीआई-एमएल (लिब्रेशन) के टिकट पर और दो उम्मीदवार सीपीआई के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। एनडीए में जदयू 37 सीटों पर चुनाव लड़ रहा है। भाजपा 35, वीआईपी पांच और हम एक सीट पर चुनाव लड़ रही है। लोजपा ने भी 42 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किये हैं। इसके ज्यादातर उम्मीदवार जदयू के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं। बिहार में पहले चरण की 71 सीटों पर 28 अक्टूबर को और दूसरे चरण की 94 सीटों पर 3 नवम्बर को वोटिंग हुई थी। नतीजे 10 नवम्बर को आएंगे। इस बार मुख्य मुकाबला सत्तारूढ़ एनडीए और विपक्षी गठबंधन के बीच है। जदयू ने सीमांचल इलाके में पिछले विधानसभा चुनाव वर्ष 2015 में 23 सीटें जीती थीं, तब जदयू विपक्षी गठबंधन का हिस्सा था। इस बार जदयू भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ रहा है। विधानससभा अध्यक्ष सहित नीतीश कैबिनेट के 12 मंत्रियों की प्रतिष्ठा भी दांव पर इस चरण में विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी के अलावा सरकार के 11 मंत्री मैदान में हैं जिनमें सुपौल से विजेन्द्र प्रसाद यादव, महेश्वर हजारी, विनोद नारायण झा, खुर्शीद अहमद, प्रमोद कुमार, लक्ष्मेश्वर राय, बीमा भारती, कृष्ण कुमार ऋषि, नरेन्द्र नारायण यादव, रमेश ऋषिदेव, सुरेश शर्मा शामिल हैं। इनके अलावा सिमरी बख्तियारपुर से विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के मुखिया मुकेश सहनी और मधेपुरा से जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव चुनाव लड़ रहे हैं। दिवंगत मंत्री विनोद सिंह की पत्नी निशा सिंह कटिहार के प्राणपुर से, जबकि कपिलदेव कामत की बहू मीना कामत मधुबनी जिले के बाबूबरही विस क्षेत्र से क्रमश: भाजपा और जदयू के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं। इनके अलावा विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी, विपक्ष के कद्दावर नेता अब्दुलवारी सिद्दीकी, सीपीआई के राज्य सचिव रामनरेश पांडेय, पूर्व मंत्री रमई राम, वीआईपी प्रमुख और पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे मुकेश सहनी और पूर्व सांसद अश्वमेध देवी सरीखे राजनेता इसी चरण में चुनाव मैदान में हैं। इन 78 विधानसभा सीटों पर डाले जा रहे वोट आज वाल्मिकीनगर, रामनगर, नरकटियागंज, बगहा, लौरिया, सिकटा, रक्सौल, सुगौली, नरकटिया, मोतिहारी, चिरैरिया, ढाका, रीगा, बाथना, परिहार, सुशंद, बाजपत्ती, हरलाखी, बेनीपट्टी, खलौजी, बिस्फी, लौकाहा, निर्माली, पिपरा, सुपौल, त्रिवेणीनगर, छत्तापुर, नरपतगंज, रानीगंज, फारबिसगंज, अररिया, जोकीहाट, सिकटी, बहादुरगंज, ठाकुरगंज, किशनगंज, कोचंदमन, अमौर, बैसी, कस्बा, बनमनखी, रुपौली, धमांदा, पूर्णिया, कटिहार, कदवा, बलरामपुर, प्राणपुर, मणिहारी, बरारी, कोरहा, आलमगनर, बिहारीगंज, सिंघेश्वर, मधेपुरा, सोनबरसा, सहरसा, सिमरी बख्तियारपुर, महिषी, दरभंगा, हयाघाट, बहादुरपुर, केवटी, जाले, गायघाट, औराई, बोछन, सकरा, कुढ़नी, मुजफ्फरपुर, महुआ, पातेपुर, कल्याणपुर, वारिसनगर, समस्तीपुर, मोरवा, सरायरंजन विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में वोट डाले जा रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in