प्रधानमंत्री ने संसद में अटल जी के उद्बोधनों के संकलन का किया विमोचन
प्रधानमंत्री ने संसद में अटल जी के उद्बोधनों के संकलन का किया विमोचन
देश

प्रधानमंत्री ने संसद में अटल जी के उद्बोधनों के संकलन का किया विमोचन

news

नई दिल्ली, 25 दिसम्बर (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और वरिष्ठ संसद सदस्यों के साथ शुक्रवार को संसद भवन के केंद्रीय कक्ष में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा संसद में दिए गए उद्बोधनों के संकलन से जुड़ी पुस्तक का विमोचन किया। "संसद में अटल बिहारी वाजपेयी: एक स्मृति खंड" नामक इस पुस्तक के विमोचन के अवसर पर राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद और लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी उपस्थित थे। पुस्तक विमोचन से पूर्व अटल जी के कुछ खास उद्बोधनओं को दिखाया गया। इससे पूर्व प्रधानमंत्री व अन्य वरिष्ठ नेताओं ने संसद के केंद्रीय भवन में अटल बिहारी वाजपेई और स्वतंत्रता सेनानी मदन मोहन मालवीय के चित्रों के समक्ष पुष्पांजलि अर्पित की। भारत रत्न से सम्मानित पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की आज 96वीं जयंती है। इस दिन को सुशासन दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। लोक सभा सचिवालय द्वारा प्रकाशित इस पुस्तक में अटल जी के जीवन पर प्रकाश डालने सहित संसद में उनके द्वारा दिए उल्लेखनीय भाषण भी शामिल किए गए हैं। इस पुस्तक में अटल जी के सार्वजनिक जीवन से जुड़ी कुछ दुर्लभ तस्वीरें भी हैं। अटल बिहारी वाजपेयी लोक सभा में दस बार तथा राज्य सभा में दो बार निर्वाचित हुए। राष्ट्र के प्रति उनके सर्वश्रेष्ठ और असाधारण योगदान के लिए उन्हें वर्ष 2015 में देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया। इससे पूर्व वर्ष 1992 में उन्हें देश के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया गया था । एक सांसद के रूप में उन्हें वर्ष 1994 में पं. गोविंद बल्लभ पंत उत्कृष्ट सांसद पुरस्कार प्रदान किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/अनूप-hindusthansamachar.in