पाकिस्तान को बातचीत का कोई संदेश नहीं भेजा : विदेश मंत्रालय
पाकिस्तान को बातचीत का कोई संदेश नहीं भेजा : विदेश मंत्रालय
देश

पाकिस्तान को बातचीत का कोई संदेश नहीं भेजा : विदेश मंत्रालय

news

नई दिल्ली, 15 अक्टूबर (हि.स.)। भारत ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोईद यूसुफ के इस कथन को आज पूरी तरह खारिज कर दिया कि भारत ने पड़ोसी देश के साथ बातचीत शुरू करने के लिए कोई संदेश भेजा था। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने गुरुवार को पत्रकार वार्ता में कहा, "हम साफ करना चाहते हैं कि भारत की ओर से ऐसा कोई संदेश नहीं भेजा गया।" उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने एक भारतीय मीडिया वेबसाइट को दिए गए साक्षात्कार में कहा था कि पाकिस्तान को भारत की ओर से बातचीत का संदेश मिला है। पाकिस्तानी अधिकारी ने संकेत दिया कि बातचीत का यह प्रस्ताव जम्मू कश्मीर से जुड़ा था। अधिकारी ने कहा कि बातचीत के इस प्रयास में कश्मीरी जनता को तीसरा पक्ष बनाया जाना चाहिए। साथ ही अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद के मुद्दे पर भी बातचीत करने के लिए तैयार है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने पाकिस्तानी अधिकारी के जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने सहित कई भारतीय घरेलू मामलों में टिप्पणियों को खारिज करते हुए कहा कि पड़ोसी देश को भारत के आंतरिक मामलों में टीका टिप्पणी नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी सरकार घरेलू मोर्चे पर अपनी असफलताओं को छुपाने के लिए भारत से जुड़े मुद्दों को उछालती है। प्रवक्ता ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को सलाह दी कि वह अपने नुस्खे अपनी ही सरकार को सुझाए तथा भारत की आंतरिक नीतियों पर टिप्पणियां करने से बाज आए। जम्मू-कश्मीर सहित भारत की आंतरिक स्थिति के बारे में पाकिस्तानी अधिकारी की टिप्पणियों को प्रवक्ता ने झूठा और भ्रामक बताया । प्रवक्ता ने दोहराया कि पाकिस्तान भारत के खिलाफ सीमा पर आतंकवाद को समर्थन देता है तथा भारत में आतंकवादियों की घुसपैठ कराने के लिए युद्ध विराम का बार-बार उल्लंघन करता है। पाकिस्तान के नेता भारत के खिलाफ घृणा से भरी भड़काऊ बयानबाजी करते हैं। पड़ोसी देश कि यह हरकतें और गाली-गलौज की भाषा सामान्य पड़ोसियों जैसे संबंधों के अनुकूल नहीं है। हिन्दुस्थान समाचार/अनूप-hindusthansamachar.in