पर्यटन के साथ चित्रकूट को चिकित्सा का भी बड़ा हब बनायेगी केंद्र सरकार-अश्वनी चौबे
पर्यटन के साथ चित्रकूट को चिकित्सा का भी बड़ा हब बनायेगी केंद्र सरकार-अश्वनी चौबे
देश

पर्यटन के साथ चित्रकूट को चिकित्सा का भी बड़ा हब बनायेगी केंद्र सरकार-अश्वनी चौबे

news

-केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री का दावा 2022 तक देश में खत्म हो जाएगी डॉक्टरों की कमी चित्रकूट, 17 दिसम्बर (हि.स.)। भगवान श्रीराम की तपोभूमि चित्रकूट के दौरे पर आये केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्वनी चौबे ने गुरुवार को भगवान कामतानाथ के द्वार पर मत्था टेका। इसके बाद आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के बीच बसा चित्रकूट पर्यटन का हब है। यहां चिकित्सा का बड़ा प्रकल्प स्थापित कर इसे स्वास्थ्य का भी बड़ा केंद्र बनाया जायेगा। उन्होंने मोदी सरकार द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने की दिशा में किये जा रहे प्रयासों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मेडिकल कालेज और एमबीबीएस की सीटे बढ़ा दी गई है। दावा किया कि 2022 तक देश में चिकित्सकों की कमी खत्म हो जायेगी। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री चौबे ने मनोकामनाओं के पूरक देवता भगवान श्रीकामता नाथ एवं प्रमुख तीर्थ हनुमान धारा के दर्शन किये। इसके बाद राष्ट्रऋषि नानाजी देशमुख द्वारा स्थापति आरोग्यधाम प्रक्ल्प,गोलोकवासी संत रणछोडदास महाराज द्वारा स्थापित सदगुरू नेत्र चिकित्सालय एवं जगदगुरू रामभद्राचार्य महाराज द्वारा स्थापति दिव्यांग विश्ववि़द्यालय चित्रकूट में संचालित गतिविधियों का अवलोकन किया।साथ ही सभी प्रकल्पों के क्रिया-कलापों की जमकर सराहना की। इसके बाद मुख्यालय स्थित डाक बंगले में आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि केंद्र की मोदी और प्रदेश की योगी सरकार स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने की दिशा में ऐतिहासिक कार्य कर रहीं है। वैश्विक महामारी कोरोना की रोकथाम की दिशा में भारत सरकार द्वारा किये गये प्रयासों की पूरे विश्व में सराहना हो रही है। उन्होने कहा कि डॉक्टरों की कमी के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनुसार एमबीबीएस की सीटें काफी बढ़ा दी गई हैं। 2022 तक देश में पर्याप्त संख्या में डॉक्टर उपलब्ध हो जाएंगे। इसके अलावा केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने बताया कि देश में तीन वैक्सीन का ट्रायल आखिरी चरण में है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैक्सीन यात्रा कर तैयारियों का जायजा ले लिया है। बताया कि पहले चरण में एक करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन दी जाएगी। उसके बार दो करोड़ कोरोना वारियर्स को इसका लाभ मिलेगा लेकिन सभी को कोविड-19 प्रोटोकाल का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि यूपी-एमपी के बीच बसा चित्रकूट अत्यंत रमणीक धाम है। भगवान श्रीराम की तपोभूमि होने की वजह से लाखों श्रद्धालुओं का आवागमन बना रहता है। उन्होंने कहा कि पर्यटन के हब चित्रकूट में चिकित्सा का बड़ा प्रकल्प स्थापित कर केंद्र सरकार स्वास्थ्य का हब बनायेगी। इसके अलावा चिकित्सकों की तैनाती एवं उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित कर चित्रकूट में बने दो सौ बेडों के मातृ एवं शिशु चिकित्सालय को जल्द ही शुरू कराया जायेगा। इससे पूर्व बांदा-चित्रकूट सांसद आर के सिंह पटेल और भाजपा के जिला मंत्री रामबाबू गुप्ता ने केंद्रीय राज्यमंत्री अश्वनी चौबे का धर्म नगरी में स्वागत किया। पत्रकार वार्ता में राज्यमंत्री चंद्रिका उपाध्याय,डीएम शेषमणि पांडेय,सीएमओ डा.विनोद कुमार यादव, सीडीओ अमित आसेरी, एसडीएम रामप्रकाश, वरिष्ठ भाजपा नेता शक्ति प्रताप सिंह, राजकुमार त्रिपाठी,मीडिया प्रभारी भागवत त्रिपाठी व अर्पित जायसवाल आदि मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार/रतन/राजेश-hindusthansamachar.in