नई शिक्षा नीति से छात्रों का सर्वांगीण विकास होगा- केन्द्रीय शिक्षा मंत्री
नई शिक्षा नीति से छात्रों का सर्वांगीण विकास होगा- केन्द्रीय शिक्षा मंत्री
देश

नई शिक्षा नीति से छात्रों का सर्वांगीण विकास होगा- केन्द्रीय शिक्षा मंत्री

news

जोधपुर, 16 अक्टूबर (हि.स.)। केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने शुक्रवार को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान जोधपुर के इंक्यूबेशन व इनोवेशन केंद्र तथा खेल परिसर का वर्चुअल उद्घाटन किया। इस अवसर पर केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत एवं केन्द्रीय शिक्षा राज्य मंत्री संजय धोत्रे भी उपस्थिति रहे। इंक्यूबेशन व इनोवेशन केंद्र तथा खेल परिसर के वर्चुअल उद्घाटन अवसर पर केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने कहा कि संस्थान कि सुविधाओं में महत्वपूर्ण कड़ी जुड़ी है और इससे बहुआयामी विकास होगा। इससे शिक्षा अनुसंधान व प्रगति की दिशा में कदम बढ़ाया है। इससे प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान में आगे बढ़ रहे हैं। वर्तमान में खेल परिसर में क्रिकेट, फुटबॉल, हॉकी, बास्केटबाल, टेनिस, वॉलीबोल, कबड्डी, योगा की सुविधाएं राष्ट्रीय व अंतर राष्ट्रीय स्तर पर तैयार किया है, यह छात्रों के सर्वांगीण विकास में महत्वपूर्ण कदम है। प्रधानमंत्री ने भी पूरे विश्व में मानव कल्याण की बात कही है। आज विश्व के कई देश इसे मान रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्वच्छ, सशक्त, आत्मनिर्भर भारत कैसे बने इसके लिए आईआईटी ने अपना गौरव बनाया है। इससे प्रधानमंत्री के मेक इन इंडिया, स्टार्ट अप व अन्य क्षेत्रों में भी छात्रों को आत्मनिर्भर बनने का अवसर मिलेगा। इससे छात्रों का सर्वांगीण विकास होगा। डॉ 'निशंक' ने कहा कि नई शुरुआत से शोध और नवाचार को आगे बढ़ाना है। प्रधानमंत्री मानव, योग, वैकल्पिक ऊर्जा, पर्यावरण व अन्य क्षेत्र में देश को पूरी दुनिया में आगे ले जाने में आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि आईआईटी व अन्य संस्थाओं का मूल्यांकन करें तो अभी और आगे जाना है। उन्होंने कहा कि मातृभाषा से महत्वपूर्ण अभिव्यक्ति हो सकती है उतनी किसी भी रूप में नहीं हो सकती है। आज जिन देशों ने भी प्रगति की है वे अपनी भाषा में शिक्षा देते हैं और दुनिया के शीर्ष देश अपनी भाषा में ही शिक्षा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति में छात्रों को बेहतर अवसर मिलेंगे और उच्च शिक्षा में शोध के संस्थान आगे ले जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि गावों का बच्चा भी आगे बढ़ेगा तो देश को और अधिक मजबूती मिलेगी। नई शिक्षा नीति से अंतिम छोर के छात्रों को भी शिक्षा का लाभ मिल सकेगा। नए पाठ्यक्रम शुरू होंने से छात्रों को नए अवसर मिल सकेंगे। उन्होंने कहा कि देश में प्रतिभा है और उस प्रतिभा के साथ ही आईआईटी आगे बढ़ेंगे। आईआईटी एम्स के साथ मिलकर भी महत्वपूर्ण शोध कर रहे है इससे नई तकनीक को विकास मिलेगा। तकनीक के विभिन्न केंद्र बनने से महत्वपूर्ण विकास होगा। नई शिक्षा नीति को साथ लेकर चलेंगे तो सभी को फायदा होगा और इसे लेकर पूरे विश्व में देश के लिए उत्सुकता है। इस अवसर पर केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि संस्थान के इन केन्द्रों के खुलने से छात्रों को नई गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि आईआईटी में खेल परिसरों से छात्रों को फिट इंडिया मूवमेंट का सपना पूर्ण करने का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा कि भारत ने सॉफ्टवेयर के क्षेत्र में दुनिया में अपना वर्चस्व स्थान बनाया है और आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस के पाठ्यक्रमों से भी छात्रों को विशेष सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि जल शक्ति मंत्रालय की ओर से भी महत्वपूर्ण कार्य किए जा रहे हैं और इसके लिए समय पर पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है। इस संस्थान में नई सुविधाएं होने से जोधपुर सहित पूरे देश के छात्रों को महत्वपूर्ण लाभ मिलेगा। केन्द्रीय शिक्षा राज्य मंत्री संजय धोत्रे ने कहा कि मुझे इस बात की भी खुशी हैं कि नवनिर्मित इंक्युबेशन एंव इनोवेशन केन्द्र में लगभग आठ उपक्रम पंजीकृत हो चुके हैं। जिनको भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय एवं अन्य संगठनों से वित्तीय सहायता प्राप्त हुई हैं। उन्होंने कहा कि आई आई टी जोधपुर ने उद्योगो की वर्तमान एंव भविष्य की आवश्यकताओं एंव विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास को ध्यान में रखते हुए अपने पाठ्यक्रमों में आवश्यक बदलाव किये हैं। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति देश के लिए महत्वपूर्ण रहेगी यह नीति एक भारत श्रेष्ठ भारत बनाने की महत्वपूर्ण नीति है। शिक्षा व्यवस्था को नया आयाम देने के लिए महत्वपूर्ण कदम है। आज के समय में नवीन आइडिया और इनोवेशन ने नए आयाम खुल रहे हैं। आइडिया को विकसित करके इसे व्यावसायिक बनाना चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार/ ईश्वर/संदीप-hindusthansamachar.in