देश में बने वेंटिलेटर्स का जल्द शुरू होगा निर्यात, सरकार ने कम डेथ रेट के चलते दी मंजूरी
देश में बने वेंटिलेटर्स का जल्द शुरू होगा निर्यात, सरकार ने कम डेथ रेट के चलते दी मंजूरी
देश

देश में बने वेंटिलेटर्स का जल्द शुरू होगा निर्यात, सरकार ने कम डेथ रेट के चलते दी मंजूरी

news

भारत जल्दी ही स्वदेशी वेंटिलेटर (Ventilator) का निर्यात शुरू कर देगा. कोरोनावायरस (Coronavirus) के लिए बनाए गए हाई लेवल ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स (GoM) ने स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रस्ताव पर सहमति जताते हुए, इसकी मंजूरी दे दी है. “डेथ रेट कम होने के चलते लिया गया फैसला” केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा, “यह फैसला इसे देखते हुए लिया गया है कि भारत में कोरोना मरीजों का डेथ रेट कम है, जो वर्तमान में 2.15 प्रतिशत है. इसका मतलब यह है कि कम संख्या में एक्टिव केस वेंटिलेटर पर हैं.” बयान के मुताबिक, 31 जुलाई तक, पूरे देश में केवल 0.22 प्रतिशत एक्टिव केस ही वेंटिलेटर पर थे. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि भारत सरकार के विदेश व्यापार महानिदेशक (DGFT) को GoM के फैसले के बारे में सूचित किया गया है, ताकि स्वदेशी रूप से निर्मित वेंटिलेटरों के निर्यात को सुविधाजनक बनाया जा सके. “देश में घरेलू वेंटिलेटर बनाने की क्षमता में हुआ इजाफा” मंत्रालय ने कहा, “अब वेंटिलेटर के निर्यात की अनुमति दी गई है, उम्मीद है कि घरेलू वेंटिलेटर विदेशों में नए बाजार खोजने की स्थिति में होंगे,” आगे कहा गया कि अब देश में घरेलू वेंटिलेटर बनाने की क्षमता में भी बढ़ोतरी हुई है. मालूम हो कि देश में जनवरी की तुलना में अब वेंटिलेटर के 20 से अधिक घरेलू निर्माता हैं. वहीं इससे पहले मार्च में देश में Covid-19 से प्रभावी तरीके से लड़ने के लिए घरेलू वेंटिलेटर के निर्यात पर रोक लगा दी गई थी. DGFT के 24 मार्च के नेटिफिकेशन के मुताबिक, देश से किसी भी तरह के वेंटिलेटर के निर्यात पर पूरी तरह से रोक थी.-newsindialive.in