देश के 9 राज्यों में कोरोना के बढ़ते रफ्तार के आंकड़े गंभीर, बिहार भी अब पीछे नहीं
देश के 9 राज्यों में कोरोना के बढ़ते रफ्तार के आंकड़े गंभीर, बिहार भी अब पीछे नहीं
देश

देश के 9 राज्यों में कोरोना के बढ़ते रफ्तार के आंकड़े गंभीर, बिहार भी अब पीछे नहीं

news

· महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, बिहार में हर रोज हजार मरीज · कोरोना वायरस की लड़ाई और भी मुश्किल हो सकती हैं पटना, 17 जुलाई (हि स)। भारत में कोरोना वायरस के कुल मामले दस लाख के आंकड़े को पार कर गया है। इन आंकड़ों में बिहार में भी प्रतिदिन 1000 से अधिक कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए जा रहे हैं जो चिंता का विषय बनता जा रहा है। इस तरह बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए ही अनलॉक -2 के दौरान फिर से बिहार में 16 से 31जुलाई तक लॉकडाउन करना पड़ा है। अगर पूरी दुनिया के आंकड़ों की बात करें तो भारत सिर्फ तीसरा देश है। देश में कोरोना वायरस के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं और हर रोज 35 हजार के करीब मामले दर्ज किए जा रहे हैं। जैसे-जैसे टेस्टिंग बढ़ रही है, मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। देश में महाराष्ट्र ऐसा राज्य है, जहां कुल आंकड़ों के करीब 30 फीसदी मामले सामने आ रहे हैं। महाराष्ट्र में हर दिन नया रिकॉर्ड बन रहा है और अब तो 8000 केस प्रति दिन के हिसाब से आ रहे हैं। दूसरी ओर तमिलनाडु और कर्नाटक में भी हर रोज चार हजार नए मामले दर्ज किए जा रहे हैं। गौरतलब है कि देश में करीब दस राज्य ऐसे हैं, जहां कुल केसों का अधिकतर हिस्सा है। ऐसे में इन राज्यों को लेकर लगातार चिंता बढ़ रही है। हालांकि, अगर टेस्टिंग के आंकड़ों को देखें तो अब हर तीन दिन में दस लाख टेस्ट किए जा रहे हैं और एक लाख केस सामने आ रहे हैं। यानी देश में अभी भी पॉजिटिविटी रेट दस फीसदी के आस-पास बना हुआ है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण ही उत्तर प्रदेश, बिहार, बंगाल, कर्नाटक, तमिलनाडु जैसे कई राज्यों ने एक बार फिर लॉकडाउन लगाया है। हिन्दुस्थान समाचार/मुरली/चंदा-hindusthansamachar.in