दीर्घकालीन विकास के लिए केंद्र का सहयोग आवश्यक : उद्धव ठाकरे
दीर्घकालीन विकास के लिए केंद्र का सहयोग आवश्यक : उद्धव ठाकरे
देश

दीर्घकालीन विकास के लिए केंद्र का सहयोग आवश्यक : उद्धव ठाकरे

news

राजबहादुर यादव मुंबई, 20 दिसम्बर (हि.स.)। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि मुंबई सहित महाराष्ट्र के दीर्घकालीन विकास के लिए केंद्र सरकार का सहयोग आवश्यक है। उन्होंने कहा कि केंद्र को विकास कार्यों में अड़ंगा डालने के बजाय राज्य सरकार से चर्चा करनी चाहिए। राज्य सरकार चर्चा के लिए हमेशा तैयार है। मुख्यमंत्री उद्धव ने रविवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से राज्य के लोगों को संबोधित किया। उन्होंने आरोप लगाया कि कांजुरमार्ग में बनने वाले मेट्रो कारशेड के निर्माण कार्य में केंद्र सरकार अड़ंगा डाल रही है। गोरेगांव में मेट्रो-3 का कारशेड बनने वाला था। मेट्रो के अन्य कारशेड का काम कांजुरमार्ग में बनाया जाने वाला था। उन्होंने सिर्फ गोरेगांव के आरे कालोनी में जंगल का नुकसान रोकने के लिए सभी मेट्रो के कारशेड को कांजुरमार्ग में बनवाए जाने की मंजूरी दी है। यह मुंबई एवं महाराष्ट्र के दीर्घकालीन विकास के लिए है। इस विकास काम को रोकने के लिए केंद्र सरकार कोर्ट में गई और जमीन पर अपना हक जताया है। उन्होंने कहा कि बुलेट ट्रेन के लिए मुंबई की हजारों करोड़ रुपये की जमीन दी गई है। आज भी महाराष्ट्र में बुलेट ट्रेन का विरोध किया जा रहा है। हम किसानों से चर्चा कर रहे हैं, उनपर जोर नहीं आजमा रहे हैं। हर राज्यों में केंद्र सरकार के विकास कार्य होते रहते हैं। अगर विकास काम में इस तरह राज्य-केंद्र का विवाद होने लगा तो विकास नहीं हो सकेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुंबई-नागपुर बालासाहेब समृद्धि महामार्ग, मुंबई में बनने वाले कोस्टल रोड का भी प्रारंभ में विरोध हुआ था, लेकिन इसे चर्चा से ही हल किया गया है। यह सभी विकास काम जारी हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्व के कई देशों में कोरोना और अधिक तीव्र गति से बढ़ रहा है। महाराष्ट्र में मार्च महीने में विदेश से आया कोरोना नागरिकों के संयम की वजह से नियंत्रण में है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें सूबे के नागरिकों पर भरोसा है, इसलिए राज्य में फिर से लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। सभी लोग दो गज की दूरी का पालन करते हुए मास्क का उपयोग करें। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in