दक्षिण कोरिया के निवेशकों की सुविधा के लिए उप्र में स्पेशल हेल्प डेस्क स्थापित
दक्षिण कोरिया के निवेशकों की सुविधा के लिए उप्र में स्पेशल हेल्प डेस्क स्थापित
देश

दक्षिण कोरिया के निवेशकों की सुविधा के लिए उप्र में स्पेशल हेल्प डेस्क स्थापित

news

- दक्षिण कोरिया से उप्र में निवेश बढ़ाने को कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ ने की चर्चा - उद्यमियों की सहूलियत के लिए कोरियन लैंग्वेज के एक्सपर्ट की नियुक्ति - डिफेंस एक्सपो-2000 से दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री काफी प्रभावित लखनऊ, 23 जुलाई (हि.स.)। प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, निवेश तथा निर्यात प्रोत्साहन मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह उत्तर प्रदेश में विदेशी निवेश लाने के लिए किये जा रहे वर्चुअल संवाद को आगे बढ़ाते हुए गुरुवार को दक्षिण कोरिया में भारत की राजदूत श्रीप्रिया रंगनाथन से ऑनलाइन चर्चा की और साउथ कोरिया के साथ व्यापारिक गतिविधियों को बढ़ाने में सहयोग देने की अपेक्षा की। दक्षिण कोरिया के निवेशकों की सुविधा के लिए प्रदेश में स्पेशल हेल्प डेस्क स्थापित उन्होंने कहा कि दक्षिण कोरिया के निवेशकों की सुविधा के लिए प्रदेश में स्पेशल हेल्प डेस्क स्थापित कराई गई है। इसके साथ ही उद्यमियों की सहूलियत के लिए कोरियन लैग्वेज के एक्सपर्ट को नियुक्त किया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार की ओर से कोरियन कंपनियों को हर प्रकार का सहयोग दिया जायेगा। उप्र से दक्षिण कोरिया में निर्यात की बहुत संभावनाएं श्री सिंह ने कहा कि दक्षिण कोरिया 50 बिलियिन डालर का प्रतिवर्ष इलेक्ट्रानिक और इलेक्ट्रिक्स गुड्स का विश्व भर से क्रय करता है। इसमें से 50 प्रतिशत अकेले चीन से आयात होता है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश से दक्षिण कोरिया में निर्यात की बहुत संभावनाएं हैं। उन्होंने एम्बेसडर से साउथ कोरिया में उत्तर प्रदेश से आयात को बढ़ाने में विशेष सहयोग देने का आह्वान किया। उन्होंने यह भी अवगत कराया कि राज्य सरकार ने निवेशकों की सुविधा के लिए नई औद्योगिक निवेश नीति लागू करने के साथ ही पूर्व में प्रचलित वर्ष 2007 और 2014 की पॉलिसी में जो सुविधाएं दी गई थी, उनको बढ़ाने का कार्य किया है। इससे प्रदेश में पहले से स्थापित इकाइयों एवं नये निवेशकों को भरपूर लाभ मिल रहा है। अयोध्या के साथ दक्षिण कोरिया का बहुत पुराना रिश्ता राजदूत ने कहा कि अयोध्या के साथ दक्षिण कोरिया का बहुत पुराना रिश्ता है। अयोध्या जिले की बेटी की शादी साउथ कोरिया के राजा से हुई थी। उन्होंने उत्तर प्रदेश के साथ व्यापारिक रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए ऑनलाइन प्रोग्राम आयोजित करने की सलाह दी। उन्होंने यह भी कहा कि यूपी में आयोजित डिफेंस एक्सपो में दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री शामिल हुए थे। वे राज्य रक्षा क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए आयोजित इस कार्यक्रम से काफी प्रभावित थे। इसके देखते हुए दक्षिण कोरिया से यूपी में निवेश आने की बहुत बड़ी सम्भावना है। उन्होंने आश्वस्त किया कि वे दक्षिण कोरिया और उत्तर प्रदेश के बीच व्यापार को बढ़ाने में हर प्रकार का सहयोग देंगे। चर्चा में अपर मुख्य सचिव, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम डॉ. नवनीत सहगल, प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास आलोक कुमार भी शामिल रहे। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/सुनीत-hindusthansamachar.in