डॉ. हेडगेवार: निर्भय पौरुष के स्वामी

डॉ. हेडगेवार: निर्भय पौरुष के स्वामी
डॉ-हेडगेवार-निर्भय-पौरुष-के-स्वामी

जन्मदिन पर विशेष नई दिल्ली, 1 अप्रैल (हि.स)। कहानी 22 जून, 1897 से शुरू होती है। इसी तिथि को रानी विक्टोरिया की ताजपोशी की 60वीं सालगिरह थी। उस समारोह से आठ वर्ष का एक बालक निराश था। उसने समारोह में हिस्सा नहीं लिया। घर लौट आया। मिठाई भी फेंक दी। क्लिक »-doonhorizon.in

अन्य खबरें

No stories found.