जलवायु परिवर्तन के लिए एकीकृत समग्र और व्यापक प्रयास जरूरी: प्रधानमंत्री
जलवायु परिवर्तन के लिए एकीकृत समग्र और व्यापक प्रयास जरूरी: प्रधानमंत्री
देश

जलवायु परिवर्तन के लिए एकीकृत समग्र और व्यापक प्रयास जरूरी: प्रधानमंत्री

news

नई दिल्ली, 22 नवम्बर (हि.स.) । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि कोरोना महामारी और आर्थिक संकट से निपटने के साथ ही वर्तमान में जलवायु परिवर्तन को रोकने की दिशा में प्रयास करना भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन को रोकने के लिए एकीकृत, समग्र और व्यापक प्रयास करने होंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-20 शिखर सम्मेलन के साइड इवेंट 'गृह की सुरक्षा-सर्कुलर कार्बन अर्थव्यवस्था दृष्टिकोण' को वर्चुअल माध्यम से संबोधित करते हुए कहा कि पर्यावरण के साथ रहने के हमारे पारंपरिक लोकाचार और सरकार की प्रतिबद्धता ने कम कार्बन और जलवायु-अनुकूल विकास प्रथाओं को अपनाया है। उन्होंने कहा कि भारत पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते के तहत तय लक्ष्यों की प्राप्ति से आगे निकल रहा है। भारत ने कई क्षेत्रों में ठोस कार्रवाई की है। हमने एलईडी लाइट्स को लोकप्रिय बनाया है। सरकार ने उज्ज्वला योजना के माध्यम से 8 करोड़ से अधिक घरों को धुआं मुक्त रसोई उपलब्ध कराई है। यह विश्व स्तर पर सबसे बड़ी स्वच्छ ऊर्जा ड्राइव में से एक है। प्रधानमंत्री ने कहा कि विकासशील देशों को वित्तीय व तकनीकी सहायता देने से दुनिया की आर्थिक प्रगति में गति आ सकती है। नई और स्थायी प्रौद्योगिकियों में अनुसंधान और नवाचार को बढ़ाने के लिए यह सबसे अच्छा समय है। हमें सहयोग और सहभगिता की भावना के साथ ऐसा करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मानवता की समृद्धि के लिए हर एक व्यक्ति का समृद्ध होना जरूरी है। श्रम को अकेले उत्पादन के कारक के रूप में देखने के बजाय ध्यान प्रत्येक श्रमिक की मानवीय गरिमा पर होना चाहिए। इस तरह का एक दृष्टिकोण हमारे ग्रह की सुरक्षा के लिए सबसे अच्छी गारंटी होगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन विश्व में कार्बन उत्सर्जन को कम करने में योगदान दे सकता है। यह सबसे तेजी से बढ़ रहे संगठन में से है जिसके वर्तमान में 88 हस्ताक्षरकर्ता देश है। ऐसा ही कार्य डिजास्टर फॉर डिजास्टर रेजिलिएंट इन्फ्रास्ट्रक्चर (सीडीआरआई) के माध्यम से भी हो रहा है। सीडीआरआई ने महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे के लचीलापन बढ़ाने पर काम शुरू कर दिया है। गरीब राष्ट्र आपदा से विशेष रूप से सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं। इसलिए यह गठबंधन महत्वपूर्ण है। हिन्दुस्थान समाचार/अनूप-hindusthansamachar.in