गिरती अर्थव्यवस्था पर राहुल का तंज: ‘ये भाजपा के नफरत भरे सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की उपलब्धि’
गिरती अर्थव्यवस्था पर राहुल का तंज: ‘ये भाजपा के नफरत भरे सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की उपलब्धि’
देश

गिरती अर्थव्यवस्था पर राहुल का तंज: ‘ये भाजपा के नफरत भरे सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की उपलब्धि’

news

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (हि.स.)। खस्ताहाल अर्थव्यवस्था और बेरोजगारी के बीच देश में प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की मंद रफ्तार को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाले छह साल में नफरत भरी सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की उपलब्धि ही है कि आज हमारा देश अपने पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश से भी पिछड़ने वाला है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने देश की आर्थिक स्थिति को लेकर सरकार को घेरते हुए कहा कि सरकार की नीतियां लगातार देश को नुकसान पहुंचा रही हैं। उन्होंने प्रति व्यक्ति जीडीपी के आंकड़ों के दर्शाने वाले एक ग्राफ को अपने ट्विटर पर साझा करते हुए कहा है, "भाजपा के नफरत भरे सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की छह साल की ठोस उपलब्धि: बांग्लादेश भारत से आगे निकलने के लिए तैयार..." राहुल गांधी के साझा किए ग्राफ के मुताबिक, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ)-वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक (डब्ल्यूईओ) ने बताया है कि साल 2020 में बांग्लादेश की प्रति व्यक्ति जीडीपी चार फीसदी से बढ़कर 1,888 डॉलर होने की उम्मीद है। जबकि भारत की प्रति व्यक्ति जीडीपी 10.5 प्रतिशत घटकर 1,877 डॉलर रहने की उम्मीद है। यह आंकड़ा भारत के लिए पिछले चार वर्षों में सबसे कम है। दरअसल, वर्तमान के कैलेंडर वर्ष में बांग्लादेश प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के मामले में भारत को पीछे छोड़ने को तैयार है। इसका मुख्य कारण कोविड-19 और लॉकडाउन के कारण भारतीय अर्थव्यवस्था को बड़ा नुकसान है। ऐसे में आईएमएफ और डब्ल्यूईओ की ओर से प्रस्तावित दोनों देशों की जीडीपी का यह आंकड़ा मौजूदा कीमतों पर आधारित है। दोनों संस्थानों की रिपोर्ट के अनुसार भारत, दक्षिण एशिया में तीसरा सबसे गरीब देश बनने की ओर अग्रसर है। भारत से पीछे सिर्फ पाकिस्तान और नेपाल रह जाएगा, जबकि बांग्लादेश, भूटान, श्रीलंका और मालदीव भारत से आगे होंगे। हिन्दुस्थान समाचार/आकाश/बच्चन-hindusthansamachar.in