गांव-की-बूढ़ी-संथा-को-समझ-आ-गया-सफाई-का-महत्व-लेकिन-शहरी-जवानों-को-नहीं!
गांव-की-बूढ़ी-संथा-को-समझ-आ-गया-सफाई-का-महत्व-लेकिन-शहरी-जवानों-को-नहीं!
देश

गांव की बूढ़ी संथा को समझ आ गया सफाई का महत्व लेकिन शहरी जवानों को नहीं!

news

महात्मा गांधी का सपना था कि भारत के लोग अपने आसपास के लोगों को स्वच्छ बनाएं और शिक्षा प्रदान कर राष्ट्र को एक उत्कृष्ट संदेश दिया था। उन्होंने “स्वच्छ भारत” का सपना देखा था जिसके लिए वह चाहते थे कि भारत के सभी नागरिक एक साथ मिलकर देश को स्वच्छ क्लिक »-www.prabhasakshi.com

AD
AD