गांवों में स्वच्छता को बढ़ावा देने 4.34 करोड़ के पुरस्कार
गांवों में स्वच्छता को बढ़ावा देने 4.34 करोड़ के पुरस्कार
देश

गांवों में स्वच्छता को बढ़ावा देने 4.34 करोड़ के पुरस्कार

news

- स्वच्छ भारत मिशन देगा 15 श्रेणियों में पुरस्कार - मुख्यमंत्री चयनित पंचायतों व प्रतिभागियों को गांधी जयंती पर करेंगे पुरस्कृत - पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने की पुरस्कारों की घोषणा रायपुर, 24 जुलाई (हि.स.)। गांवों में स्वच्छता को बढ़ावा देने राज्य स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) द्वारा चार करोड़ 34 लाख रुपये के पुरस्कार दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इन पुरस्कारों के लिए चयनित ग्राम पंचायतों और प्रतिभागियों को गांधी जयंती पर 2 अक्टूबर को पुरस्कृत करेंगे। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टीएस सिंहदेव ने शुक्रवार को राज्य स्वच्छता पुरस्कार-2020 के तहत 15 श्रेणियों में दिए जाने वाले पुरस्कारों की घोषणा की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि, खुले में शौचमुक्त हो चुके गांवों में इसका स्थायित्व बरकरार रखने, समुदाय की सहभागिता और लोगों में साफ-सफाई की अच्छी आदतों को प्रेरित करने ये पुरस्कार दिए जा रहे हैं। स्वच्छता को बढ़ावा देने अलग-अलग स्तरों पर अलग-अलग तरह के बेहतर काम करने वाले विभिन्न वर्गों को पुरस्कृत किया जाएगा। सिंहदेव ने कहा कि प्रतिभागियों के बीच इन पुरस्कारों के लिए स्वस्थ प्रतिस्पर्धा से ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता की आदतों और व्यवहार में दीर्घकालिक बदलाव लाने में मदद मिलेगी। ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन, प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन तथा महिलाओं एवं किशोरियों में माहवारी स्वच्छता के प्रति जागरुकता लाने में भी इससे सहायता मिलेगी। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ स्वच्छ भारत मिशन के क्रियान्वयन में अग्रणी राज्य है। मिशन द्वारा इस प्रोत्साहन से ग्रामीणों में स्वच्छता की उत्कृष्ट स्थिति प्राप्त करने और उसे लगातार बनाए रखने की जागृति पैदा होगी। चयनित विजेताओं को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर 2 अक्टूबर को पुरस्कार वितरित किए जाएंगे। राज्य स्वच्छता पुरस्कार-2020 के तहत स्वच्छ सुंदर शौचालय पुरस्कार के प्रत्येक विजेता हितग्राही को 5001 रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। इसके लिए जिला स्तर पर दस-दस हितग्राहियों का चयन किया जाएगा। स्वच्छ सुंदर सामुदायिक शौचालय पुरस्कार जिला एवं राज्यस्तर पर दिए जाएंगे। जिला स्तर की विजेता ग्राम पंचायत को 21 हजार रुपये और राज्यस्तरीय विजेता पंचायत को एक लाख रुपये की पुरस्कार राशि दी जाएगी। राज्यस्तर पर उत्कृष्ट सेग्रिगेशन शेड के लिए चयनित ग्राम पंचायत को एक लाख रुपये दिए जाएंगे। माहवारी स्वच्छता प्रबंधन के लिए दो श्रेणियों में विजेताओं का चयन किया जाएगा। जिलास्तर की विजेता पंचायत को 21 हजार रुपये और राज्यस्तरीय विजेता को 51 हजार रुपये के पुरस्कार से नवाजा जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/ गायत्री प्रसाद-hindusthansamachar.in