क्वाड मंत्रिस्तरीय बैठक में भारत ने कहा- मुक्त, खुले और समावेशी भारत-प्रशांत के लिए प्रतिबद्ध
क्वाड मंत्रिस्तरीय बैठक में भारत ने कहा- मुक्त, खुले और समावेशी भारत-प्रशांत के लिए प्रतिबद्ध
देश

क्वाड मंत्रिस्तरीय बैठक में भारत ने कहा- मुक्त, खुले और समावेशी भारत-प्रशांत के लिए प्रतिबद्ध

news

नई दिल्ली, 06 अक्टूबर (हि.स.)। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को भारत-प्रशांत क्षेत्र के चार बड़े देशों भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया के अनौपचारिक राजनीतिक गुट (क्वाड) की मंत्रिस्तरीय बैठक में भाग लिया। अपने प्रारंभिक संबोधन में उन्होंने कहा कि भारत मुक्त, खुले और समावेशी भारत-प्रशांत के लिए प्रतिबद्ध है। विदेश मंत्री ने कहा कि हम साझा मूल्यों के साथ जीवंत और बहुलतावादी लोकतंत्रों के रूप में सामूहिक रूप से एक स्वतंत्र, खुले और समावेशी भारत-प्रशांत को बनाए रखने के महत्व की पुष्टि करते हैं। उन्होंने कहा कि हम कानून के शासन, परदर्शिता, अंतरराष्ट्रीय समुद्रों में आवाजाही की स्वतंत्रता, क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता के सम्मान के साथ विवादों के शांतिपूर्ण समाधान को आधार मानते हुए नियम-आधारित अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं। जयशंकर ने कहा कि हमारा उद्देश्य भारत-प्रशांत क्षेत्र में वैध और महत्वपूर्ण हितों वाले सभी देशों की सुरक्षा और आर्थिक हितों को आगे बढ़ाना है। यह संतोष की बात है कि भारत-प्रशांत अवधारणा को व्यापक रूप से व्यापक स्वीकृति मिली है। इस दौरान विदेश मंत्री ने महामारी के कठिन दौर में जापान द्वारा बैठक को आयोजित करने के लिए उसका धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत तौर पर बैठक में भागीदारी इसके महत्व को रेखांकित करती है। पिछली बार अमेरिका में सितंबर माह में हुई बैठक के बाद अब दुनिया काफी बदल गई है। कोरोना महामारी ने दुनिया को भीतर से बदल डाला है। उन्होंने कहा कि महामारी ने दुनिया को बताया कि विभिन्न चुनौतियों का सामना करने के लिए समन्वय कितना जरूरी है। अब जब हम महामारी का सामना कर रहे हैं तो अब हम इस जैसी चुनौतियों को सामना करने के लिए और अधिक मजबूत बनकर उभरें हैं। अगले वर्ष संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की सदस्यता पर उन्होंने कहा कि हम वैश्विक चुनौतियों के लिए सामूहिक समाधान की तलाश करना चाहते हैं, जिसमें महामारी से उबरना और बहुपक्षीय संस्थानों में सुधार करना भी शामिल है। हिन्दुस्थान समाचार/अनूप/सुनीत-hindusthansamachar.in