कोरोना मरीजों के आइसोलेशन के लिए आश्रय हुआ लांच, संक्रमण बाहर नहीं फैलने देगा यह सिस्टम
कोरोना मरीजों के आइसोलेशन के लिए आश्रय हुआ लांच, संक्रमण बाहर नहीं फैलने देगा यह सिस्टम
देश

कोरोना मरीजों के आइसोलेशन के लिए आश्रय हुआ लांच, संक्रमण बाहर नहीं फैलने देगा यह सिस्टम

news

वैश्विक महामारी कोविड-19 से निपटने के लिए पुणे की एक डीम्ड यूनिवर्सिटी ने संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए एक विशेष किस्म के बिस्तर की प्रणाली विकसित की है। इन मेडिकल बेड को ‘आश्रय’ नाम दिया गया है। इन बेड को इस तरह बनाया गया है कि मरीज के संक्रमण को औरों तक फैलने से रोकेगा या फिर उसे एकदम सीमित कर देगा। भारत में इस संक्रमण के अत्यधिक फैलने से अस्पतालों में मरीजों का अलग कमरों में इलाज मुश्किल हो गया है। इसलिए यह बेहद कारगर साबित होने वाला है। पुणे के डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड टेक्नोलॉजी (डीआइएटी) का विकसित किया यह मेडिकल बेड आश्रय न सिर्फ सस्ता है, बल्कि कोविड-19 मरीजों को ध्यान में रखकर इसमें ऐसा फिल्टर सिस्टम लगाया गया है जो संक्रमण को बाहर फैलने नहीं देगा। साथ ही संक्रमित मरीज के सीमित क्षेत्र को भी लगातार संक्रमण मुक्त करता रहेगा। इसे साफ करके बार-बार उपयोग किया जा सकता है। मेडिकल बेड के ढांचे को मेडिकल ग्रेड के एक ऐसे पारदर्शी मैटेरियल से बनाया गया है जो संक्रमित मरीज को पूरी तरह से पैक करके किसी भी स्थान से एकदम अलग कर देता है। यह मेडिकल बेड मॉड्यूलर होने के साथ ही पोर्टेबल भी है। इसकी डिजाइन को विभिन्न संस्थानों, अस्पतालों और यहां तक कि घरों या किसी एक व्यक्ति को क्वारंटाइन करने के लिए भी उपयोगी बनाया जा सकता है। सूचना और प्रसारण मंत्रालय के अनुसार, यह मेडिकल बेड एक पारदर्शी टेंटनुमा पदार्थ से पूरी तरह ढका रहता है। इस प्रणाली में एक बेड के साथ ही चिकित्सा संबंधी सुविधाओं समेत एक मेज-कुर्सी और टहलने तक के लिए थोड़ी सी जगह मौजूद होती है। यह पारदर्शी टेंट बैक्टीरिया रोधी और फंगल रोधी पदार्थ से बना है। इसे सैनिटाइज करके बार-बार इस्तेमाल किया जा सकता है। मेडिकल बेड के इस टेंटनुमा खोल को उपलब्ध स्थान के हिसाब से व्यवस्थित किया जा सकता है। मरीज की निजता को बनाए रखने के लिए जमीन से तीन फीट ऊपर तक टेंट को अपारदर्शी रखा गया है। इसका प्रोटोटाइप बनाने वाले निर्माताओं का कहना है कि दस बेड के एक यूनिट को तैयार करने की कीमत एक लाख रुपये है जबकि घर में एक बेड का क्वारंटाइन क्षेत्र बनाने की कीमत महज 15 हजार रुपये होगी।-newsindialive.in