कोरोना टेस्ट रिपोर्ट में देरी पर कांग्रेस सांसद ने जताई नाराजगी
कोरोना टेस्ट रिपोर्ट में देरी पर कांग्रेस सांसद ने जताई नाराजगी
देश

कोरोना टेस्ट रिपोर्ट में देरी पर कांग्रेस सांसद ने जताई नाराजगी

news

- कहा, टेस्ट रिपोर्ट तैयार करने पर तय हो जवाबदेही नई दिल्ली, 13 सितम्बर (हि.स.)। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने की मंशा से संसद ने सभी सदस्यों को कोविड जांच अनिवार्य रूप से कराने के निर्देश जारी किये हैं। ऐसे कल यानी 14 सितम्बर से संसद का मानसून सत्र शुरू हो रहा है। इसे देखते हुए संसद सदस्य जांच कराने में जुटे हैं। इस बीच कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने भी जांच कराई है लेकिन रिपोर्ट मिलने में देरी पर परेशान हैं। दरअसल बिना कोरोना जांच रिपोर्ट के सांसद परिसर में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। इसी बात को लेकर वे चिंतित हैं। आनंद शर्मा ने कहा है कि संसद नियमों की अनिवार्यता को समझते हुए ही उन्होंने तीन दिन पहले जांच करवा लिया था लेकिन इसके बावजूद उन्हें टेस्ट रिपोर्ट का इंतजार करना पड़ रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि कुछ सहयोगियों ने प्राइवेट सेंटर से टेस्ट कराया था, उन्हें रिपोर्ट मिल भी गई है। ऐसे में जरूरी है कि रिपोर्ट की व्यवस्था को लेकर जवाबदेही तय की जाए। दरअसल, संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए संसद में तय नियमों को हर हाल में पालन करना अनिवार्य है। संबधित अधिकारियों, सदस्यों और कर्मचारियों को दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करने को कहा गया है। सत्र शुरू होने के 72 घंटे पहले सभी सांसदों को सरकार द्वारा अधिकृत किसी भी अस्पताल और लैब से कोरोना टेस्ट कराना अनिवार्य है। रिपोर्ट दिखाने/जमा कराने के बाद ही परिसर में प्रवेश की अनुमति होगी। उल्लेखनीय है कि संसद का मानसून सत्र सोमवार, 14 सितम्बर से शुरू हो रहा है। एक अक्टूबर तक चलने वाले इस सत्र में कुल 18 बैठकें होंगी, जिनमें सोशल डिस्टेंसिंग का खास ध्यान रखा जाएगा। खास बात यह है कि इस बार लोकसभा और राज्यसभा दो पालियों में चलेंगीं। रोजाना सुबह नौ बजे से एक बजे तक राज्यसभा का सत्र चलेगा, उसके बाद दोपहर तीन बजे से शाम सात बजे तक लोकसभा का सत्र चला करेगा। इस दौरान बीच के 2 घण्टे में संसद को सैनेटाइज करने का कार्य होगा। हिन्दुस्थान समाचार/आकाश/सुनीत-hindusthansamachar.in